कोविड शील्ड वैक्सीन की अनुपलब्धता से आम जनता परेशान*
जिला प्रभारी राजीव कुमार पांडेय की रिपोर्ट गाजीपुर इन दिनों भारत में करोना संक्रमण की लहर भयंकर रूप धारण कर चुकी है केंद्र व उ०प्र० की सरकारें आम जनता से लंबी-लंबी डींगे हांकने में लगी हुई है कि करोना वैक्सीन की देश/प्रदेश में कहीं भी किसी प्रकार की कमी न है मगर इसका सच उस समय जग जाहिर हो गया जब विकास खंड परिसर में चल रहे राजकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सुखडेहरा पर आज पधारे लगभग सैकड़ों को लोगों को वापस इस चिल चिलाती धूप में वापस घर जाना अखर गया जब छं लंबे समयांतराल बाद वे पंजीकरण काऊंटर पर येन प्रकारेण‌ अपने हिस्से का दूसरा डोज लगवाने के लिए काफी धक्का-मुक्की खाने के बाद पंजीकरण काऊंटर पर पहुंचे तो बगल में बैठे अनुभी फार्मासिस्ट कुरैशी ने बताया कि काफी दिनों से कोविड शील्ड की वैक्सीन यहां नही आ रहाहै।कोविड शील्ड की वैक्सीन आने तक इंतजार करनें ही होंगे कारण कि प्रथम टीकाकरण कोविड शील्ड से ही हुआ था तो दूसरा भी कोविड शील्ड का टीका लगेगा। बताते चलें कि इस केंद्र से जब कोरोना का टीकाकरण कार्यक्रम का आरंभ कोविड शील्ड नामक वैक्सीन से हुआ था। विकास खंड के कोने कोने जो लोग दूसरा टीकाकरण कराने आये थे उनमें से अधिकांश लोगों का प्रथम डोज लिए हुए सात से आठ सप्ताह का दिन बीतने जा रहा था। इसलिए वे काफी घबराये हुए उदास दिखाई दे रहे थे।आम तौर पर डाक्टरों का कहना है कि किसी भी व्यक्ति को कोरोना से बचाव के लिए दूसरा वैक्सीन बयालीस से चौवन दिनों के के अंदर अवश्य लग जाने चाहिए। लेकिन इस सुखडेहरा के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर इन दिनों कोवैक्सीन ही उपलब्ध हों पा रहाहै। क्षेत्र के सामाजिक कार्यकर्ता और पूर्वांचल किसान मंच के प्रवक्ता जयप्रकाश राय ने सरकार के इस घुल-मिल रवैए की घोर निन्दा करते हुए कहा कि सरकार को आम जनता की कोई फ्रिक ही नही है।इसकी जितनी निंदा किए जाये उतना ही कम है।सर्व सेवा समिति के अध्यक्ष एस डी सिंह ने मांग किया है कि अविलंब कोविड शील्ड की वैक्सीन इस केंद्र को उपलब्ध कराया जाये ताकि भटक रहे लोगों को इसका दूसरा टीकाकरण किया जा सके। कोविडशील्ड न आने के कारण जानने का प्रयास केंद्र प्रभारी डा विकास तिवारी फोन से संपर्क किया गया तो तो फोन उठाना मुनासिब नही समझे क्योंकि बड़े साहब जो ठहरे।