मुख्यमंत्री की विकास प्राथमिकता कार्यक्रम में जिलाधिकारी द्वारा समीक्षा बैठक किया गया
जिला प्रभारी राजीव कुमार पाण्डेय की रिपोर्ट गाजीपुर । जिलाधिकारी मंगला प्रसाद सिंह की अध्यक्षता में आज राइफल क्लब सभागार में मा0 मुख्यमंत्री की विकास प्राथमिकता कार्यक्रम में 50 लाख से अधिक लागत के निर्माण कार्य, 50 लाख से कम लागत के निर्माण कार्य, मा0 मुख्यमंत्री द्वारा की गयी घोषणाओं के निर्माण कार्य एवंक्रिटिकल गैप्स योजना के अन्तर्गत माह-मार्च, 2021 की समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में 50 लाख से अधिक लागत के निर्माण कार्यो की समीक्षा में जिलाधिकारी ने आवास विकास परिषद निर्माण खण्ड वाराणसी प्रथम, उ0प्र0 प्रदेश राज्य निर्माण सहकारी संघ लि0 वाराणसी-2, यू पी सिडको गाजीपुर, उ0प्र0 जल निमग गाजीपुर, रा0 निर्माण निगम लि0 बलिया, वाराणसी-2,/भदोही, सिचाई निर्माण खण्ड वाराणसी, सी एन डी एस जल निगम जौनपुर, लोक निर्माण विभाग गाजीपुर, उ0प्र0 प्रोजेक्ट कार्पोरेशन लि0 वाराणसी, आजमगढ़, राजकीय निर्माण निगम लि0 आजमगढ, नगर पंचायत सादात, सी.एल.डी.एफ गाजीपुर, एंव सी.एण्ड डी.एस. जल निगम वाराणसी, गाजीपुर द्वारा कराये जा रहे कार्यो की विस्तारपूर्वक समीक्षा की गयी। समीक्षा के दौरान जिलाधिकरी ने राजकीय महिला शरणालय अरशदपुर जंगीपुर, मे सी एन डी एस जल निगम जौनपुर निर्माण के कार्यो की समीक्षा के दौरान उसे समय से पूर्ण कराते हुए गुणवत्ता की जॉच कराकर रिपोर्ट प्रस्तुत किया जाय। अपने विभाग से सम्बन्धित कार्य की जानकारी न दे पाने के कारण सम्बन्धित कार्य दायी संस्था के द्वारा कराये जा रहे निर्माण कर्यो पर जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि समस्त कार्यदायी संस्था के अधिकारी प्रत्येक 10 दिनो पर स्वयं अपने-अपने कार्याे की समीक्षा करने के साथ जितने भी कार्य कराये जा रहे है उसकी प्रत्येक एंगल से फोटोग्राफ्स भी उपलब्ध करायेगंे एवं जितने भी कार्य धनाभाव के कारण बंद है, पत्राचार कर धनावन्टन की मॉग कर लिया जाय। 50 लाख से कम लागत के कार्यो की समीक्षा में उ.प्र. राज्य निर्माण सहकारी संघ लि. वाराणसी-2, उ0प्र0 समाज कल्याण निगम लि0 गाजीपुर, उ0प्र0 जल निगम द्वितीय गाजीपुर, राजकीय निर्माण निगम लि0बलिया, राजकीय, निर्माण निगम लि0 वाराणसी-2/भदोही, सी.एण्ड डी.एस. जल निगम, जौनपुर, उ0प्र0 पोजेक्ट कारपोरेशन लि0वाराणसी, ग्रामीण अभियंत्रण कारपोरेशन लि0 वाराणसी, सी.एल.डी.एफ, गाजीपुर एवं नलकूप खण्ड-प्रथम, गाजीपुर की समीक्षा में जिलाधिकारी ने निर्माण कार्य मे कम प्रगति वाले कार्याे पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कार्यदायी संस्था के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि कार्याे को पूर्ण गुणवत्ता एवं मानक के अनुसार निर्धारित समय के अन्दर पूरा करने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी द्वारा मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा की गयी घोषणाओं के कार्यो की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने ग्रामीण अभियंत्रण विभाग, नलकूप खण्ड प्रथम /द्वितीय, उ.प्र. आवास एवं विकास परिषद, निर्माण, खण्ड-निर्माण इकाई, वाराणसी-1, क्षेत्रीय आयुवेर्दिक एवं यूनानी अधिकारी, गाजीपुर, लोक निर्माण विभाग, नि.ख.-3 गाजीपुर, लोक निर्माण विभाग, प्रा0ख0 गाजीपुर, उच्च शिक्षा विभाग, वाराणसी/सी.एण्ड.डी. एस.जल निगम, जौनपुर, नगर पालिका परिषद, गाजीपुर, संयुक्त निदेशक, पर्यटन, वाराणसी मण्डल वाराणसी/उ.प्र. प्रोजेक्ट कारपोरेशन लि. यूनिट-3, जिला ग्रामोद्योग अधिकारी, गाजीपुर, मुख्य चिकित्साधिकारी, गाजीपुर द्वारा किया गया। ग्रामीण अभियंत्रण विभाग द्वारा 51 सड़कों का कार्य पूर्ण करा लिया गया है। नलकूप खण्ड प्रथम /द्वितीय में विधान सभा जहूराबाद, मुहम्मदाबाद, जमानियॉ, जखनियॉ एवं सदर का समस्त कार्य पूर्ण करा लिया गया है। शेष कार्य जो अधूरे है उन्हे भी जल्द से जल्द कराने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी मंगला प्रसाद सिंह द्वारा क्रिटिकल गैप्स योजना के अन्तर्गत माह-मार्च, 2021 की प्रगति की समीक्षा की गयी। समीक्षा के दौरान विकास भवन में शुद्ध पेयजल आर.ओ., अनुसूचति जाति छात्रावास का नाली निर्माण कार्य, जिला कारागार गाजीपुर में पुस्तकालय की स्थापना हेतु 704 पुस्तकें एवं 02 अद्द रैक का क्रय, कलेक्टेªट परिसर गाजीपुर में आर.ओ.व वॉटर, कूलर की स्थापना, 400 के.वी.ए. परिर्वतक हेतु मोबाइल ट्राली उपलब्ध कराने एवं अन्य कार्यो पूर्ण कर लिया गया। इन कार्यो को पूर्ण के उपरान्त उससे सम्बन्धित अधिकारी को निर्देश दिया कि किसी प्रकार का टूटे-फूटे, लिकेज, व मरम्मत कार्य अभी बाकी है उसे तत्काल ठीक कर लिया जाय। जो कार्य पूर्ण के हो चुके है उन्हे तत्काल हैण्डवोवर करा दिया जाय। बैठक मे मुख्य चिकित्साधिकारी जी.सी. मौर्य, वरिष्ठ कोषाधिकारी अखिलेश प्रताप सिंह, मुख्य विकास अधिकारी श्रीप्रकाश गुप्ता, संख्याधिकारी नीरज श्रीवास्तव, बेसिक शिक्षा अधिकारी श्रवण कुमार, गामोद्योग अधिकारी, ए डी एस टी ओ परशुराम, एंव कार्यदायी संस्था के अधिकारी व सम्बन्धित अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे। ...