प्रेम प्रसंग में प्रेमिका के भाई राहुल यादव की हुई हत्या।राहुल की बहन से हत्यारे महेश यादव का था पूर्व में प्रेम प्रसंग
जिला प्रभारी गोपाल पांडेय की रिपोर्ट बस्ती बस्ती जिले के गौर थाना क्षेत्र में अज्ञात युवक के शव मिलने का एसपी आशीष श्रीवास्तव ने खुलासा किया, बीते 22 मार्च को मंसूरनगर तरैनी गांव के पास झाड़ियों में युवक का शव मिला था, शव का दोनो हाथ कटा था, इस हत्या कांड को एक तरफा प्रेम प्रसंग में अंजाम दिया गया था, प्रेमी ने अपने प्रेमिका के भाई राहुल यादव को गड़ासे से काट कर मौत के घाट उतारा था और पहचान छिपाने के लिए दोनों हाथ को भी काट दिया था, आप को बता दें शव मिलने की सूचना के बाद पुलिस ने जब मामले की छानबीन शुरू की तो एक गाड़ी यूपी 32 एजी 1073 के बारे में पता चला, जब इस गाड़ी के बारे में पुलिस ने तहकीकात शुरू की तो पता चला की गाड़ी मृतक के बहन के नाम रजिस्टर्ड है, जो लखनऊ के गोमतीनगर की रहने वाली है, मृतक की मां मीना यादव से जब पुलिस ने सम्पर्क किया तो पता चला की उन की लड़की के नाम कोई गाड़ी नहीं है, पुलिस ने जब मीना यादव को लाश मिलने की सूचना देकर लखनऊ से गौर थाने पर बुलाया तो उन्होंने अपने लड़के राहुल के रूप में शव की पहचान की, उन की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की तो इस हत्या कांड को अंजाम देने वाले दो अभियुक्त अमरनाथ यादव और महेश यादव पुलिस के हत्थे चढ़े, पुलिस ने जब गहनता से पूछताछ की तो पता चला की मृतक राहुल यादव और महेश यादव दोस्त थे और दोनों प्रापर्टी डीलर का काम करते थे, जिसकी वजह से मुख्य आरोपी महेश यादव का राहुल के घर अक्सर आना जाना रहता था, और मृतक की बहन से वह एक तरफा प्यार करता था, और उस पर बुरी नजर रखता था, शादी का दबाव बना रहा था जब्कि महेश यादव पहले से शादी शुदा था, जब इस की जानकारी लड़की के भाई राहुल को हुई, तो इस को लेकर दोनों के बीच झगड़ा हुआ, इस के बाद महेश ने राहुल को रास्ते से हटाने का प्लान बनाया, चूंकि दोनों प्रापर्टी डीलर का काम करते थे अक्सर घर से दो-चार दिन बाहर रहते थे, मुख्य आरोपी महेश यादव गौर थाना क्षेत्र के कछिया गांव का रहने वाला था वह राहुल को अपने साथ लखनऊ से अपने गांव ले आया रास्ते में दोनों ने शराब पी, इस के बाद आरोपी महेश यादव और उस का साथी अमरनाथ यादव ने राहुल को जंगल में ले जाकर गड़ासे से हत्या कर दी और शव को छोड़ कर फरार हो गए थे,हाथ पर कुछ निशान होने की वजह से उस का दोनों हाथ काट दिया जिससे पहचान न हो सके, पुलिस ने इस हत्या कांड का खुलासा करते हुए दोनों अभियुक्तों को अरेस्ट कर जेल भेज दिया है, हत्या में प्रयुक्त गड़ासे को भी पुलिस ने बरामद कर लिया है।