प्रधानी चुनाव के रंजिश में हुई थी राजाराम निषाद की हत्या, 4 गिरफ्तार
कृपाशंकर यादव की रिपोर्ट।
गाजीपुर । 23 मई को प्रधानी चुनाव के रंजिश में घर के बाहर सो रहे बुजुर्ग की धरदार हथियार से हत्या कर दी गई थी। मामले में पुलिस ने 4 युवकों को गिरफ्तार कर लिया । जिसका खुलासा आज पुलिस अधीक्षक डॉ ओमप्रकाश सिंह ने पुलिस लाइन में एक प्रेसकांफ्रेस कर किया। इस दौरान एसपी ने बताया कि 23 मई की रात खानपुर थाना इलाके के पटना गांव में अपने घर के बाहर सो रहे बुजुर्ग की धरदार हथियार से हत्या कर दी गई थी। घटना की जानकारी मिलते ही खुद मौके पर पहुच गया था। लोगों से पूछताछ के दौरान पता चला कि मृतक राजाराम निषाद का किसी तरह का किसी से कोई विवाद नहीं है। उसके बाद अभी हाल ही में हुए पंचायत चुनाव के मद्देनजर जांच पड़ताल की गई। तो पता चला कि मृतक राजाराम अपने विरादरी में अच्छी पकड़ रखते थे। इस सम्बंध में पंचायत चुनाव से संबंध रखने वालों को बुलाया गया तो प्रधानी के चुनाव में रामाश्रय यादव चुनाव लड़े थे और इस चुनाव में उनका पुत्र राजू यादव काफी सक्रिय था और वो पुलिस के बुलाने पर भी नही आया था। जिसके बाद पुलिस की शक की सुई राजू यादव पर घूम गई और उसकी तलाश में जुट गई। उसके बाद आज पुलिस ने राजू यादव को तेतारपुर तिराहे से गिरफ्तार कर पूछताछ करने लगी। पूछताछ में राजू यादव ने घटनाक्रम बताते हुए कहा कि हमारे पिता पटना गांव से प्रधानी का चुनाव लड़े थे और चुनाव के दौरान राजाराम निषाद आपने बिरादरी का वोट दिलवाने की बात कही थी। लेकिन चुनाव में इनके बिरादरी का वोट नही मिला। जिससे खुन्नस खाये मृतक राजाराम को सबक सिखाने के लिए अपने तीन मित्र नीरज यादव, आशीष यादव, रामदेव यादव उनके घर पहुंच गए। हाथ पैर तोड़ने की नीयत से पहले बुजुर्ग की पिटाई की। बाद में पकड़े जाने की वजह से फिर उस बुजुर्ग की धरदार हथियार से हत्या कर दी थी। मामले पुलिस ने 4 आरोपियों को आलाकत्ल के साथ गिरफ्तार कर आगे की कार्रवाई कर रही है। वहीं पुलिस अधीक्षक ने तीसरे दिन घटना के वर्क आउट करने वाली टीम को 10 हजार के इनाम की घोषणा की ।