डीएम -एसपी ने किया गेहूं क्रय केंद्र का निरीक्षण
कमलाकर मिश्र की रिपोर्ट
देवरिया -जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन के निरीक्षण में नमन सेवा कृषि उपज समवर्धन सह०स०लि० सोनाडी मोड, ब्लाक भलुअनी गेहूं क्रय केन्द्र की समीक्षा की गई। समीक्षा में पाया गया कि इस केन्द्र पर 1508.325 मी0टन 211 कृषकों से गेहूँ क्रय की गयी है एवं क्रीत गेहूँ के सापेक्ष 730.00 मी0टन गेहूँ भा०खा०नि० के डिपों में सम्प्रदान किया गया है। निरीक्षण के समय केन्द्र पर अजय सिंह केन्द्र पर अपना 250 कु० गेहूँ विक्रय करने हेतु उपस्थित थे। केन्द्र प्रभारी द्वारा अवगत कराया गया कि बड़े किसानों का खरीद हेतु दबाव है। जिलाधिकारी द्वारा केन्द्र प्रभारी को स्पष्ट निर्देश दिया गया कि 15 जून तक खरीद में छोटे किसानों को वरीयता दे. क्योंकि छोटे किसानों को शासन स्तर से वरीयता देने के निर्देश है।क्रय विक्रय सह०स० लि० करूअना ब्लाक भलुअनी केन्द्र का निरीक्षण के समय केन्द्र प्रभारी सुरेश प्रसाद उपस्थित मिलें जिलाधिकारी द्वारा खरीद की समीक्षा में पाया गया कि उक्त केन्द्र पर 699.174 मी0टन 92 कृषकों से गेहूँ क्रय की गयी है एवं क्रीत गेहूँ के सापेक्ष 530.00 मी0टन गेहूँ भा०खा०नि० के डिपों में सम्प्रदान किया गया है। जिलाधिकारी द्वारा पिछले वर्ष एवं इस वर्ष की खरीद की तुलनात्मक समीक्षा की गयी एवं क्रय केन्द्र प्रभारी को स्पष्ट निर्देश दिया गया कि छोटे किसानों को खरीद में प्रत्येक स्तर वरीयता दें। विपणन शाखा बरहज क्रय केन्द्र का निरीक्षण किया गया, निरीक्षण में पाया गया कि केन्द्र प्रभारी श्री दिलीप कुमार, वि०नि० केन्द्र पर उपस्थित मिलें। समीक्षा में पाया गया कि उक्त केन्द्र पर 162.70 मी0टन की गयी है। निरीक्षण के समय पाया गया कि केन्द्र पर कृषक की खरीद हो रही है। जिलाधिकारी द्वारा केन्द्र प्रभारी से खरीद कम होने का कारण पूछा गया एवं स्पष्ट निर्देश दिये गये है एवं यह भी निर्देश दिये गये है कि लगातार प्रतिदिन खरीद होनी चाहिए। केन्द्र पर आये हुए कृषक से खरीद संबंधी व्यवस्था के सम्बन्ध में पूछ-ताछ की गयी एवं समस्या का निराकरण भी कराया गया।जिलाधिकारी द्वारा उपस्थित अधिकारियों को भी निर्देशित किया गया कि जिन क्रय केन्द्रों पर गोदाम भर गया है तो आस-पास कहीं अन्य स्थान पर गेहूँ क्रय प्रारम्भ करायें जिससे किसानों का खरीद बाधित न हो एवं इस सम्बन्ध में यदि आवश्यक हो तो अन्य विभाग के अधिकारियों से भी समन्वय स्थापित करें। गेहूँ क्रय प्रत्येक दशा में सुचारू रूप से होना चाहिए। निरीक्षण के समय पुलिस अधीक्षक, अपरजिलाधिकारी (वि० / रा०) / जिला खरीद अधिकारी, उपजिलाधिकारी बरहज, जिला खाद्य विपणन अधिकारी एवं सहायक आयुक्त एव सहायक निबन्धक सहकारिता, देवरिया उपस्थित रहे।