मोहम्मदाबाद ब्लाक प्रमुख पद के चुनाव में चरम पर सियासत
जिला प्रभारी राजीव कुमार पांडेय की रिपोर्ट।
गाजीपुर।त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के परिणाम आने के बाद अब जिले के विभिन्न ब्लॉक प्रमुख पदों को लेकर सियासी हलचल तेज है।जिले में ग्राम प्रधानों के पदों पर शपथ ग्रहण के बाद अब जिले के सियासी सूरमा ब्लॉक प्रमुख पदों और जिला पंचायत अध्यक्ष के पद को लेकर सियासी दांव पेंच में उलझे हुए हैं।इसी सियासी सरगर्मी की कड़ी में मोहम्मदाबाद विधानसभा क्षेत्र के तहत आने वाले ब्लॉकों में प्रमुख पद की दावेदारी और इन पदों पर कब्जा करने वालों पर सबकी निगाहें टिकी हुई है।वजह साफ है कि पिछले कई दशकों से मोहम्मदाबाद विधानसभा क्षेत्र के ब्लॉकों में प्रमुख पद को लेकर सियासी घमासान अंसारी परिवार और अन्य के बीच होता रहा है।लेकिन वर्तमान में बदली परिस्थितियों में इस बार ब्लॉक प्रमुख पद की लड़ाई वर्तमान सांसद अफजाल अंसारी और मुहम्मदाबाद की विधायक अलका राय के समर्थकों के बीच सिमटती नजर आ रही है।मोहम्मदाबाद विधान सभा क्षेत्र के भांवरकोल ब्लॉक के प्रमुख पद के लिए बीजेपी विधायक अलका राय की बहू श्रद्धा राय ने अपनी मजबूत दावेदारी ठोंक रखी है।जो अलका राय के भतीजे आनंद राय मुन्ना की पत्नी है।जबकि इस पद के लिए वरिष्ठ बीजेपी नेता विजय शंकर राय अपनी बहू शोभा राय के लिए जुगाड़ तलाश रहे हैं।पिछले दिनों वायरल हुई ऑडियो क्लिप में भी इस बात का खुलासा हुआ था कि विजय शंकर राय प्रमुख पद के लिए सांसद अफजाल अंसारी से समर्थन मांग रहे है।जिसे उन्होंने सिरे से नकारते हुए,अपना प्रत्याशी उतारने की बात कही थी।फिलहाल सियासी पंडितों की माने तो इस ब्लॉक के प्रमुख पद पर वर्तमान में बीजेपी विधायक अलका राय की बहू श्रद्धा राय की दावेदारी सबसे तगड़ी नजर आ रही है।इसी तरह जिले के मोहम्मदाबाद ब्लॉक के प्रमुख पद पर भी सभी की नजर टिकी हुई हैं।इस ब्लॉक के प्रमुख पद के लिए जहां सांसद अफजाल अंसारी और उनकी टीम ने उत्सव राय अप्पू के समर्थन में मोर्चा संभाल रखा है।जो पूर्व ब्लॉक प्रमुख विजय किशोर राय के भतीजे हैं।वही विधायक अलका राय का खेमा अवधेश राय की जीत को लेकर आश्वस्त नजर आ रहा है।अवधेश राय को जहां विधायक अलका राय का आशीर्वाद प्राप्त है,वही अलका राय के पुत्र पीयूष राय अवधेश राय की जीत सुनिश्चित करने में दिन रात एक किये हुए है।जबकि सपा खेमे के वरिष्ठ नेता की अगुवाई में अवधेश राय की राह में रोड़े अटकाने में जुटे हैं। राजनैतिक सूत्रों की माने तो अवधेश राय को रोकने के लिए ये खेमा विधायक के विरोधियों को समर्थन दे सकता है। ऐसे में मोहम्मदाबाद ब्लॉक प्रमुख पद की लड़ाई बेहद रोचक होने वाली है।जबकि जिले के सियासी मठाधीशों का मानना है कि भांवरकोल और मुहम्मदाबाद ब्लॉक के प्रमुख पदों को लेकर इस बार सियासी हवा भविष्य की राजनीति को तय करने वाली होगी। फिलहाल इन पदों पर अपने लोगों को जीत दिलाने के लिए अलका राय के पुत्र पीयूष राय कड़ी मेहनत कर रहे हैं। वही दूसरी ओर सांसद खेमा भी अपने कैंडिडेट को लेकर जुटा हुआ है।