परिवार को अधमरा कर सिपाही ने ट्रेन के आगे कूदकर दी जान*
कृपाशंकर यादव की रिपोर्ट।
ग़ाज़ीपुर:- 15 मई 2021 को दिलदार नगर थाना क्षेत्र के उसियां गांव में सुबह 3:30 बजे के करीब एक व्यक्ति मुंशी सिंह यादव पुत्र स्व० रामवृक्ष सिंह यादव निवासी उसिया,उम्र-45 वर्ष, जो उत्तर प्रदेश पुलिस विभाग में जनपद फतेहपुर में हेड कांस्टेबल के पद पर तैनात थें। चर्म रोग से पीड़ित होने के कारण अवसाद में थे। वह अपने परिवार के साथ रात में छत पर सोया था। भोर में लगभग 3:30 बजे अपनी पत्नी रीना देवी उम्र-40 वर्ष व पुत्रियां नेहा यादव उम्र 17 वर्ष, वर्षा यादव उम्र 10 वर्ष व सुधा यादव उम्र 5 वर्ष तथा पुत्रगण श्यामसुंदर उर्फ सागर उम्र 8 वर्ष तथा कृष्णा यादव उम्र ढाई वर्ष को धारदार हथियार द्वारा घायल कर दिया गया। चीखने चिल्लाने की आवाज सुनकर आरोपी के बड़े भाई की पत्नी जैसे घटनास्थल पर पहुंची। सभी को लहूलुहनल देख कर बेहोश होकर गिर पड़ी। आवाज सुनकर ग्रामीण घटनास्थल की तरफ दौड़ पड़े और वारदात की जानकारी पुलिस को दी। सूचना मिलते ही पुलिस टीम मौके पर पहुंची और घायलों को उपचार के लिए जिला अस्पताल भेज दिया। जहां पत्नी रीना देवी की इलाज के दौरान मौत हो गई। वही सुधा, कृष्णा और श्याम की हालत नाजुक बनी हुई है। इधर वारदात को अंजाम देकर आरोपी सिपाही यादव ने ककरही डेरा के सामने ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या करली। फिलहाल पुलिस ने दोनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। घटना की सूचना पाकर पुलिस अधीक्षक द्वारा जिला अस्पताल जाकर पीड़ितों से उनका हालचाल जाना गया तथा घटना के संबंध में जानकारी ली गई। फिलहाल पुलिस ने दोनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। वहीं घटना के बाद परिजन परिजनों के गांव में मातमी सन्नाटा फैला हुआ है।