दवाओं व संसाधनों की नहीं होनी चाहिए कोई कमी-डीएम
कमलाकर मिश्न की रिपोर्ट
देवरिया - जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने सभी उप जिलाधिकारियों व क्षेत्राकारियों को कोविड संक्रमित क्षेत्रो को क्लस्टर का रुप देते हुए, उसमें प्रभावी रुप से सत्त निरीक्षण एवं अनुश्रवण किये जाने का निर्देश दिया है। उन्होने कहा है कि क्लस्टर जोन में सभी आवश्यक सेवाओं की आपूर्ति भी जरुरतमंदो तक सुनिश्चित होनी चाहिये। आरआरटी एवं निगरानी टीम भी पूरी सक्रियता बरतते हुए इन क्षेत्रो में नियमित निरीक्षण अनिवार्य रुप से करें, यह प्रत्येक दशा में सुनिश्चित होनी चाहिये। उन्होने कहा कि किसी भी दशा में कोविड मरीजों के इलाज में दवाओ एवं संसाधनो की उपलब्धता आडे नही आने चाहिये। सभी जरुरतो को समय पूर्व ही स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी व प्रभारी चिकित्साधिकारी गण सुनिश्चित करायेगें एवं आवश्यकतानुरुप जो भी कमी हो उसका समय पूर्व प्रस्ताव प्रस्तुत करेगें। जिलाधिकारी श्री निरंजन प्रतिदिन गूगल मीट के माध्यम से किये जाने वाले कोविड प्रबंधन कार्यो की समीक्षा पुलिस अधीक्षक डा श्रीपति मिश्र सहित अन्य जुडे विभागो के अधिकारियों के साथ कल देर सायं कर रहे थे। उन्होने कहा कि सर्विलांस टीम पूरी तरह से सक्रिय हो एवं उनके द्वारा किये गये कार्यो का पूर्ण डाटा भी अनिवार्य रुप से एसडीएम, क्षेत्राधिकारी, प्रभारी चिकित्साधिकारी गण आपसी समन्वय रखते हुए उसे सुनिश्चित करेगें। सर्विलांस टीम द्वारा कितने घरो मे डोर-टू-डोर कान्टेक्ट ट्रेसिंग की गयी, कितने संदिग्ध लक्षण वाले पाये गये, कितने सैम्पलिंग व जांच की गयी तथा कितने पाजिटिव पाये गये यह पूरी तरह से रखी जानी चाहिये। साथ ही उन्होने दवाओं की उपलब्धता एवं आवश्यक संसाधनो की उपलब्धता सुनिश्चित कराये जाने का भी निर्देश दिया। समीक्षा के दौरान उन्होने कन्टेमेण्ट जोन, वैक्सीनेशन, सैम्पलिंग कार्य, मेडिसीन का वितरण, निगरानी समिति की सक्रियता, ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में सैनिटाईजेशन कार्य की गहन समीक्षा कर आवश्यक निर्देश दिये गये। पुलिस अधीक्षक डा श्रीपति मिश्र ने इसे दौरान पुलिस विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि कन्टेमेन्ट जोन में पुलिस सक्रियता में प्रभावी व पैनी रुप से होनी चाहिये। वे कन्टेमेन्ट जोन में भ्रमणशील रहे, व्यवस्थाओं का जायजा लेते रहे जनमानस के सुविधाओ का जानकारी लेते हुए उसका समाधान कराये। उन्होने सभी थानाध्यक्षो को अपने संबंधित कन्टेमेन्ट जोन में भ्रमणशील रहने का भी निर्देश दिया। आयोजित इस गूगल मीट में एडीएम प्रशासन कुवर पंकज, सीएमओ डा आलोक पाण्डेय, एसीएमओ डा सुरेन्द्र सिंह, एसडीएम, क्षेत्राधिकारी, खंड विकास अधिकारी, अधिशासी अधिकारी गण सहित स्वास्थ्य विभाग एवं अन्य जुडे विभागो के अधिकारी व कर्मचारी गण वर्चुअल समीक्षा से जुडे रहे।