शासन से नामित नोडल अधिकारी एक सप्ताह प्रवास कर कोविड प्रबंधन कार्यों की करेंगे समीक्षा -डीएम
कमलाकर मिश्न की रिपोर्ट
देवरिया- जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने बताया है कि शासन द्वारा जनपदों में कोविड बचाव व संक्रमण के प्रभावी रोकथाम के अनुश्रवण हेतु अधिकारियों को वरिष्ठ नोडल नामित किया गया है। ये अधिकारी जनपद में एक सप्ताह प्रवास कर कोविड प्रबंधन कार्यों की प्रभावी समीक्षा व अनुश्रवण करेंगे तथा प्रतिदिन उसकी रिपोर्ट शासन को भेजेंगे। जनपद में इस कार्य के लिए वरिष्ठ नोडल अधिकारी राजस्व सचिव रणवीर प्रसाद को नामित किया गया है। नामित नोडल अधिकारी द्वारा शासन के तय कोविड-19 से संबंधित दिशा-निर्देशों का जनपद स्तर पर अनुपालन सुनिश्चित करवाया जाएगा, इसमें जिला प्रशासन का मार्गदर्शन एवं सहयोग भी वे करेंगे।कोविड-19 से प्रभावी ढंग से निपटने के लिए जनपद में नगरीय तथा ग्रामीण क्षेत्रों में निगरानी समितियों को सक्रिय बनाए रखने, निगरानी समितियों द्वारा डोर-टू-डोर स्क्रीनिंग सुनिश्चित करने की समीक्षा की जाएगी।यह सुनिश्चित कराया जाएगा कि हर निगरानी समिति के पास पर्याप्त मेडिकल किट उपलब्ध हो । हर लक्षणयुक्त तथा संदिग्ध व्यक्ति को निगरानी समिति द्वारा मेडिकल किट उपलब्ध करवाए जाने का भी अनुश्रवण किया जाएगा। निगरानी समिति प्रतिदिन उन लोगों के नाम तथा फोन नंबर सेक्टर अधिकारी को उसी दिन उपलब्ध करायेगी, जिन्हें मेडिकल किट प्रदान की गयी है। यह सूची तत्पश्चात जिला प्रशासन को उसी दिन उपलब्ध करायी जायेगी तथा इसका सत्यापन आई०सी०सी०सी० के माध्यम से सुनिश्चित कराया जायेगा एवं जनप्रतिनिधियों को भी यह सूची उपलब्ध करायी जायेगी। निगरानी समिति यह सुनिश्चित करेगी कि लक्षणयुक्त अथवा संदिग्ध व्यक्तियों के पास अलग कक्ष (टॉयलेट के साथ) की व्यवस्था हो। जिन व्यक्तियों के पास यह व्यवस्था नहीं है, उनकी सूची सेक्टर अधिकारी के माध्यम से जिला प्रशासन को देगी,ताकि जिला प्रशासन उन्हें क्वारंटीन सेंटर ले जाने की व्यवस्था करे ।आई०सी०सी०सी० द्वारा होम आइसोलेशन व क्वारंटीन सेन्टर में रहने वाले प्रत्येक व्यक्ति के स्वास्थ्य की जानकारी डाक्टर्स की टीम द्वारा ली जायेगी। निगरानी समिति द्वारा स्क्रीनिंग उपरांत संदिग्ध व लक्षणयुक्त व्यक्तियों का आर०आर०टी० द्वारा 24 घंटे में एंटीजन टेस्ट सुनिश्चित कराया जाएगा। जनपद के नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में स्वच्छता, सैनिटेशन तथा फॉगिंग की व्यवस्था सुनिश्चित कराया जाना, प्राइवेट हॉस्पिटल द्वारा निर्धारित दरों पर ही इलाज किया जाय तथा कोई ओवर चार्जिंग न हो। इसकी प्रभावी अनुश्रवण नामित नोडल अधिकारी द्वारा की जाएगी। जनपद में गठित आर०आर०टी० की गतिविधियों का पर्यवेक्षण किया जायेगा। समस्त कोविड चिकित्सालयों में चिकित्सकों तथा चिकित्सा सुविधाओं की उपलब्धता, मरीजों के भोजन की व्यवस्था एवं चिकित्सालयों में स्वच्छता का पर्यवेक्षण किया जायेगा तथा समस्त कार्यवाहियों की रिपोर्ट प्रतिदिन मुख्यमंत्री कार्यालय, मुख्य सचिव कार्यालय एवं कार्यक्रम कार्यान्वयन विभाग को ई-मेल के माध्यम से उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया जायेगा। नामित वरिष्ठ नोडल अधिकारी जिला प्रशासन की समस्त इकाईयो, चिकित्सा विभाग के समस्त अधिकारी, पुलिस विभाग के समस्त अधिकारी इत्यादि को उनके कार्य व दायित्वों के निर्वहन में पूर्ण सहयोग प्रदान करेंगे तथा जिला प्रशासन का मागदर्शन व सहयोग प्रदान करेंगे। जनपद के नामित वरिष्ठ नोडल अधिकारी शासन द्वारा तय कार्य बिंदुओं व दिशा निर्देशों के अनुरूप प्रतिदिन अपनी समीक्षा व अनुश्रवण कर उसकी रिपोर्ट शासन को प्रेषित करेंगे।