बुद्ध के विचारों से ही विश्व में लायी जा सकती है शांति- उमाशंकर कुशवाहा*
कृपाशंकर यादव की रिपोर्ट।
गाजीपुर। कुशवाहा समाज द्वारा तथागत गौतम बुध्द जयन्ती समारोह कोरोना महामारी कॆ चलते सामूहिक कार्यक्रम को स्थागित करके घर घर मनाया जा रहा हॆ।छावनी लाइन मे स्थापित प्रतिमा पर माल्यापर्ण करते हुए पूर्व विधायक उमाशंकर कुशवाहा ने कहा कि विश्व के 66 देशो मे बॊध्द धर्म के अनुवायी हॆ परन्तु अपने देश मे महामानव उपेक्षित हॅ।तथागत गॊतम बुध्द का जन्म उस समय हुआ था।जब समाज मे ऊचं,नीच,विषमता,रुढिवादिता,अंधविश्वास, सामाजिक कुरीतियां चरम सीमा पर व्याप्त था। महामानव गॊतम बुध्द ने अपने उपदेशों के माध्यम से सम्पूर्ण मानव समाज को एक सूत्र मे पिरोने का कार्य किया।उनके विचारो व उपदेशों पर चलकर सम्पूर्ण विश्व को एक सूत्र मे बांधा जा सकता हॅ।इस अवसर पर प्रधानाचार्य अजय कुशवाहा पूर्व ग्राम प्रधान उर्मिला कुशवाहा,अजय कुशवाहा,राजनाथ कुशवाहा ने माल्यापर्ण किया। एम जे आर पी पब्लिक स्कूल जगदीशपुरम मे चित्र पर माल्यापर्ण करते हुए पूर्व सासंद जगदीश कुशवाहा व युवा नेता राजेश कुशवाहा ने कहा कि महामानव गॊतम बुध्द का जन्म 563 ई,पूर्व कपिलवस्तु के पास लुम्बिनी नामक स्थान पर हुआ था।उनके पिता का नाम शुध्दोधन व माता का नाम माया देवी था।29 वर्ष कि उम्र मे घर छोङ दिया।बोध गया मे ग्यान प्राप्त हुआ।अपना पहला उपदेश सारनाथ मे दिया।भगवान बुध्द का जन्म,ज्ञान प्राप्ति, व महापरिनिर्वाण( मॄत्यु) तीनो वॆशाख पूर्णिमा को हुआ,483 ई,पू कुशीनगर मे नश्वर शरीर का परित्याग कर ब्रहमलीन हुए। नूरपुर मे रामनरेश कुशवाहा ने कहा तथागत गॊतम बुध्द ने अपना सम्पूर्ण जीवन जात,पात,ऊंच,नीच,पाखंण्डवाद,को समाप्त करने मे लगा दिया।उनके उपदेशो पर चलकर सम्पूर्ण विश्व को एक सूत्र के बांधा जा सकता हॆ। देवकली मे अशोक कुशवाहा ने कहा कोरोना महामारी के चलतॆ सामूहिक कार्यक्रम स्थागित करके घर घर मनाया जा रहा हॆ।इस अवसर पर नरेन्द्र मॊर्य,डा० शॆलेन्द्र सिंह,डा० आकांक्षा सिंह, निशा मॊर्या,लक्ष्मी देवी,अभिषेक सिंह,देवेन्द्र सिंह ने चित्र पर माल्यापर्ण किया।इस अवसर पर पियरी मे कुशवाहा महासभा के पूर्व जिला अध्यक्ष देवनाथ कुशवाहा,डा० शिवकुमार कुशवाहा,डा० संतोष कुशवाहा,हरिहर कुशवाहा,सरायतालवी मे रंगजी कुशवाहा,बभनॊली मे राजपति व रमाशंकर एडवोकेट,ऒङिहार मॆ रामकिशुन एडवोकेट,भीमापार मे डा० रामजी कुशवाहा,बॊरवां मे मोहन कुशवाहा,तरांव मे कालीचरन एडवोकेट वेचन कुशवाहा,भितरी मे गोपाल कुशवाहा,उर्मिला कुशवाहाअच्छेलाल मॊर्य, मुङियार मे प्रकाश,घुरहू ,ओमकार व उर्मिला कुशवाहा ने चित्र पर माल्यापर्ण किया।