जिला प्रशासन अलर्ट, बच्चों को रखे सुरक्षित महामारी का तीसरा लहर आने वाला है
कृपाशंकर यादव की रिपोर्ट।
गाजीपुर ।16 मई 2021, कोविड-19 इण्टीग्रटेड कन्ट्रोल कमाण्ड सेन्टर आई सी सी सी विकास भवन में आयुक्त वाराणसी मण्डल वाराणसी दीपक अग्रवाल की अध्यक्षता में कोविड महामारी को देखते हुए प्रतिदिन होने वाले कोरोना टेस्ट (एन.टी.जन, आर.टीपी.सी.आर,) चिकित्सालयो में आक्सीजन की उपलब्धता, वैक्शिनेशन, कोविड-सेन्टर, चिकित्सालय मे बेड, मास्क, सेनेटाइजेशन, दवाओ की उपलब्धता, तथा ग्राम पंचायतो एंव ग्राम सभा मंे गठित टीम द्वारा लगाये जा रहे वैक्शिनेशन एवं उसकी उपलब्धता की जानकारी ली। जिसमे बताया गया कि जनपद मे 74 टीमो द्वारा बनाये गये कोविड-19 सेन्टरो पर वैक्शिनेशन का कार्य चल रहा है जिसकी सूची मागी गयी और जॉच में पाया गया कि जनपद में जनसंख्या के अनुसार कम वैक्शिनेश हुई है जिसपर नराजगी व्यक्त करते हुए अधिक से अधिक वैक्शिनेशन कराते हुए लोगों को प्रेरित करने का निर्देश दिया। जिस ग्राम पंचायत एवं ग्राम सभा में लोगो को वैक्शिनेशन के प्रति भ्रम फैला हुआ है उस ग्राम के प्रधान, आशा व आगंनवाड़ी के माध्यम से लोगो प्रेरित करते हुए 45 साल से उपर के महिला एवं पुरूष को वैक्शीनेशन को डोज लगाया जाये और उन्हे बताया जा की कोविड माहामारी से बचने के लिए यही सही है। उन्होने अवगत कराया कि कोविड-19 महामारी के तीसरी लहर आने वाला है जो सबसे ज्यादा बच्चो को प्रभावित करेगा। उन्होने जिलाधिकारी को निर्देश दिया कि जनपद में जितने सरकारी एंव प्राईवेट अस्पताल है उनके चिकित्सको के साथ बैठक कर आने वाली महामारी से निपटने के लिए पूरी तैयारी कर लिया जाये ताकि किसी भी परिवार को समस्याओ का सामना न करना पड़े। जनपद में सभी को मास्क का प्रयोग प्रत्येक दशा में कराना अनिवार्य रहेगा बिना मास्क के पाये जाने पर सख्त से सख्त कार्यवाही करने का निर्देश दिया। ग्रामीण स्तर पर जिला पचायत राज अधिकारी एवं शहरी क्षेत्रो में ई0 ओ0 नगर पालिका द्वारा प्रति दिन साफ सफाई व सेनेटाइजेशन का कार्य लगातार किया जाये, कोविड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर से होम आइसोलेशन के मरीजों का हालचाल लेते रहे तथा उन्हें मेडिकल किट भी उपलब्ध करायें। उन्होने कहा कि जनपद में अन्त्येष्ठि स्थलो पर कमजोर एवं असहाय व्यक्तियों को रू0 5000 हजार की आर्थिक सहायता दिया जाये। इस हेतु अन्त्येष्टि स्थलो पर टीम लगाने का निर्देश दिया। गंगा नदी में किसी के द्वारा शव प्रवाहित नही किया जायेगा। इस पर विशेष ध्यान दिया जाये। बैठक में जिलाधिकारी एम पी सिंह, पुलिस अधीक्षक डा0 ओम प्रकाश सिंह, मुख्य विकास अधिकारी श्री प्रकाश गुप्ता, मुख्य चिकित्सा अधिकारी जी सी मौर्य, अपर जिलाधिकारी वि0रा0 राजेश सिंह, ज्वाइन्ट मजिस्ट्रेट पवन कुमार मीणा, प्रशिक्षु पी सी एस प्रतिभा मिश्रा, टीम-9 के सदस्य एवं सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे ।