गाजीपुर में घाटों पर फिर मिले आठ शव, आईवी व खुफिया विभाग एक्शन में
जिला प्रभारी राजीव कुमार पांडेय की रिपोर्ट।
गंगा के किनारे शवों के मिलने का सिलसिला जारी है। गाजीपुर के करंडा थाना के चार गंगा घाटों पर शनिवार को भी छह तो जमानिया कोतवाली के दो गंगा घाटों पर दो उतराए शव मिले। पुलिस एवं प्रशासनिक टीम ने सभी शवों का ससम्मान अंतिम संस्कार कराया। उधर, जिले में शवों के लगातार मिलने के मामले में एक तरफ जहां प्रशासनिक अमला अलर्ट है। वहीं आईबी और खुफिया विभाग की टीम शवों का आंकड़ा खंगालने के साथ कारणों की रिपोर्ट भेजने में जुटी हुई है। खुफिया विभाग के स्थानीय अधिकारियों की मानें तो जिले में प्रतिदिन बड़े पैमाने पर शव मिलने की प्रमुख वजह है कि लाख अंकुश के बावजूद लोग शवों का जल प्रवाह कर रहे हैं। यही नहीं गैर जिलों से भी शव बहकर आ रहे हैं। ऐसे में अगर गंगा में महाजाल लगाया जाए तो दस दिन में स्थिति नियंत्रण में आएगी। इधर, करंडा थाना क्षेत्र के चांड़ीपुर, सुआपुर और चोचकपुर गंगा घाट पर एक-एक कर तीन शव मिले हैं। जबकि चकेरी गंगा घाट पर तीन उतराए शव मिले। इन शवों का पुलिस द्वारा अंतिम संस्कार करा दिया गया। वहीं जमानिया के बलुआ घाट और बड़ेसर स्थित श्मशान घाट पर गंगा में उतराए दो शव मिले। तहसीलदार घनश्याम ने बताया कि दोनों शवों को पानी से निकलवाकर ससम्मान अंतिम संस्कार करा दिया गया।