खेत की रखवाली कर रहे किसान की हत्या कर शव को फंदे से लटकाया
बछवाड़ा (बेगूसराय):- दियारा क्षेत्र के दादुपुर वार्ड 12 में मंगलवार की देर रात अज्ञात अपराधियों नें खेत की रखवाली कर रहे एक किसान की हत्या कर फांसी के फंदे से लटका दिए जाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। बताते चलें कि उक्त पंचायत के लगभग साठ वर्षीय वृद्ध नाथो पासवान मंगलवार की देर रात खाना खा कर वार्ड 12 स्थित अपनी खेत की रखवाली करने निकला था। उल्लेखनीय है कि उक्त किसान वार्ड बारह स्थित अपने निजी जमीन पर सब्जी की खेती किया करता था। जहां वह अन्य दिनों की भांति खेत पर बने डेरा में रात्रि विश्राम करने पहुंचे थे। सुबह जब उक्त किसान के परिजन खेत पर बने डेरा में पहुंचे तो वहां का दृश्य देख हतप्रभ रह गए। परिजनों नें देखा कि किसान का शव झोपड़ी के बांस बल्ली में लगे फंदे से झुल रहा है। इस पर परिजनों की चीख चित्कार व शोर गुल से इस पास के ग्रामीण वहां जुट गए। तत्पश्चात मामले की सुचना बछवाड़ा थाने की पुलिस को दी गई। सुचना के बाद दल-बल के साथ पहुंचे बछवाड़ा थाने की पुलिस नें घटनास्थल का मुआयना करते हुए शव को अपने कब्जे में ले लिया। ग्रामीणों व परिजनों नें बताया कि फंदे से लटके किसान के शव का घुटना जमीन से सटा था। लोगों नें शक जाहिर करते हुए बताया कि उक्त किसान की हत्या के पश्चात हत्यारों नें शव को फंदे से लटका दिया गया है। मृत किसान की हत्या के क्रम में किसान का जियो मोबाइल व नगद राशि भी छीनी गई है। घटनास्थल पर ग्रामीणों नें पुलिस का ध्यान आकृष्ट कराते हुए शराब के रैपर, भुंजा, मिर्च आदि को दिखाते हुए यह भी शक जाहिर किया अपराधियों नें घटनास्थल पर शराब का सेवन किया है। इस क्रम में बछवाड़ा पुलिस को घटनास्थल पर मौजूद सैकड़ों लोगों नें जमकर कोपभाजन का शिकार बनाया। आक्रोशित लोगों नें बताया कि गांव में यह कोई पहली घटना नहीं। इस प्रकार के घटना दर घटना लगभग आधे दर्जन लोगों की हत्या हो चुकी है। लोगों नें घटनाक्रम का जिक्र करते हुए बताया कि विगत कुछ दिनों पूर्व दादूपुर पंचायत के वार्ड नंबर 8 निवासी शंकर साह की हत्या अपराधियों नें तेज़ाब डालकर कर दिया। स्व साह झमटिया भगवानपुर में राशन दुकान चलाकर अपना जीवन यापन करता था। दुसरी घटना भगवानपुर वार्ड 7 निवासी महेन्द्र राय को अपराधियो ने तेज हथियार से हत्या कर खेत में फेंक दिया था। वहीं तीसरी घटना के रूप में देखा जाए तो दादुपुर समसीपुर वार्ड 3 निवासी पंचू राय जो दुध का कारोबार करता था। जिन्हे अपराधियों ने फांसी लगाकर हत्या कर खेत में फेंक दिया था। दादुपुर रतुल्लहपुर वार्ड 8 निवासी महेन्द्र राय को झमटिया पुल के समीप अपराधियों ने गोलीमार कर हत्या कर दिया था। उक्त वर्णित चारो मामले में आज तक किसी प्रकार का कोई कार्यवाही नही होने की बात बताते हुए लोगों नें कहा कि घटना के बाद पुलिस खानापूर्ति कर मामले से अपना पल्ला झाड़ लेती है। जिसके वास्तविक अपराधी सलाखों से बाहर होते हैं। पुलिस के इस रवैए से बढ़ते अपराधिक मनोबल पर पुलिस की धमक बौनी साबित होती है। लिहाजा एक एक कर हत्याओं का दौर जारी है। लोगों नें लोगों नें शत-प्रतिशत इमानदारी पुर्वक जांच व वास्तविक अपराधियों पर कानूनी नकेल कसने की मांग की है।