वीडियों कान्फ्रेसिंग के माध्यम से मण्डलीय खरीफ उत्पादकता गोष्ठी 2021 का हुआ आयोजन
देवरिया - मण्डलीय खरीफ उत्पादकता गोष्ठी का आयोजन वीडियों कान्फ्रेसिंग के माध्यम से बस्ती, गोरखपुर, अयोध्या, देवीपाटन एवं वाराणसी मण्डल के साथ किया गया। इस गोष्ठी में अतिथियों का स्वागत अपर कृषि निदेशक(प्रसार) उ0प्र0 द्वारा किया गया। इसके उपरान्त तकनीकी सत्र में खरीफ फसलोत्पादन संबंधी वैज्ञानिकों द्वारा तकनीकी चर्चा की गयी तथा कुलपति आचार्य नरेन्द्र देव कृषि विश्वविद्यालय, अयोध्या की खरीफ अभियान में भूमिका के संबंध में चर्चा की गयी। इस सत्र का प्रस्तुतीकरण वैज्ञानिक/विशेषज्ञ नरेन्द्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय कुमारगंज अयोध्या द्वारा किया गया। रणनीति सत्र में कृषि निदेशक उ0प्र0 द्वारा खरीफ अभियान हेतु मण्डलवार रणनीति एवं प्रभावी बिन्दु पर प्रकाश डाला गया। इसी सत्र में ही अपर मुख्य सचिव(कृषि) ने खरीफ अभियान 2021 संबंधी शासन के निर्देश दिये व अपेक्षाये की। इसके उपरान्त मण्डलवार समीक्षा की गयी, मण्डलायुक्त/जिलाधिकारी/सं0कृ0नि0/उ0कृ0नि0 द्वारा प्रस्तुतिकरण किया। मण्डलीय/जनपदीय अधिकारियों एवं कृषकों द्वारा प्रस्तुत प्रगति/चर्चा/अनुभवों व समस्याओं का चर्चा किया गया। अपर मुख्या सचिव(कृषि) द्वारा उद्बोधन किया गया। कलेक्ट्रेट स्थित एनआईसी में इस कार्यक्रम में वीडियों कान्फ्रेसिंग के माध्यम से जुडे जिलाधिकारी आशुतोष निंरजन ने कहा कि सीजन की सभी तैयारियां हम लोगो ने पूर्ण कर ली है, जिसके संबंध में मेरे स्तर से एक बैठक हुई थी, जिसमें सभी संबंधित विभागो से किसी तरह के कृषकों उद्यम की समस्या नही बतायी गयी। इसके अतिरिक्त ऊर्जा विभाग, नलकूप व नहर विभाग से सामजंस्य ठीक हो गया। एक बैठक हमने बैंकर्स व सहायक अभियंता को लेकर बैठक की थी। उन्होने कहा कि इस जनपद में किसी तरह से मेजर समस्या नही है। कुछ हमारे क्षेत्र है बरहज और चमौली, जहां पर जल जमाव की वजह से थोडी दिक्कत आ जाती है, जिसे हम मनरेगा के तहत पूर्ण करा लेगें। कृष्ण मोहन पाठक ने कहा कि कृषि यंत्र के सहयोग काफी हद तक कृषि क्षेत्र में सुधार हुआ है। स्वयं सहायता समूह की महिला सवित्री राय ने प्रत्येक ग्राम में विलेज हाट बनाये जाने का प्रस्ताव रखा तथा कहा कि भूमहीन महिला लीज के माध्यम से लाभान्वित हो रही है। उप कृषि निदेशक डा ए के मिश्र, एलडीएम राकेश श्रीवास्तव, उद्यान अधिकारी सीताराम यादव, सहायक अभियंता लघु सिचाई पंकज राय, अधिशासी अभियंता नहर, अधिशासी अभियंता सिचाईं, अन्य संबंधित विभागो के अधिकारी व कृषक गण जुडे रहे।