प्रेम मिलन के रंजिश का बदला निकालने के लिए चाकू मारकर हत्या करने का किया प्रयास
तुलसी पाण्डेय की रिपोर्ट
कुशीनगर - जनपद के हाटा कोतवाली के अंतर्गत ग्राम सभा विसवा मठवाल गिरी में दिनांक 6 जून रात 9:30 बजे घात लगाकर चाकू मारकर हत्या करने का किया गया प्रयास | हमारे प्रतिनिधि अनुसार ग्राम निवासी रामगोविंद सिंह के घर पर उनके नाती विशाल सिंह पुत्र रजवंत सिंह एवं उसके मामा जालंधर ,राधेश्याम एवं रामगोविंद सिंह अपने अन्य साथियों के साथ रोड पर खड़े थे तभी अमन तिवारी अपने गांव के ग्राम प्रधान के तिलक समारोह से वापस आ रहे थे तभी रास्ते में रोककर विशाल ने आवाज दी यही है जो हमारे प्रेमिका (काल्पनिक नाम शीला) की जानकारी देखकर हमें पिटवा आया था आज इसे छोड़ेंगे नहीं तभी घात लगाकर मोटरसाइकिल को रोक लिया तुरंत विशाल ने अमन तिवारी के पेट में रामपुरी चाकू से हमला कर दिया |राधेश्याम ,जालंधर, अदालत,फ्लोदर ने अमन तिवारी को पीटने लगे इसी बीच रामगोविंद सिंह ने ललकारते हुए कहा इसे मत छोड़ना जिंदा नहीं बचना चाहिए इसे मार कर खेत में फेंक दो | यह बात सुनते ही गांव के कुछ लोग भागते हुए आए और बीच-बचाव करने लगे तभी विशाल ने देखा कि गांव के लोग आ रहे हैं तो तुरंत अपने पैर पर उसी चाकू से हमला करके अपने आप को घायल शो करने लगा और उसके सभी साथी भाग निकले गांव के निवासी ने अमन तिवारी को उठाकर एक तक तखत पर लिटाया और घरवालों को सूचना दिया जिस पर अमन तिवारी के मामा ओम प्रकाश मिश्र पिता हेमंत तिवारी भागते हुए पहुंचे और बेटे को उठाया और हटा के सरकारी हॉस्पिटल पर पहुंचाया डॉक्टर ने मरहम पट्टी करते हुए गंभीर स्थिति को देखते हुए गोरखपुर के मेडिकल कॉलेज के लिए रेफर कर दिया जहां अमन तिवारी की हालत बेहद नाजुक बनी हुई है हमारे प्रतिनिधि के अनुसार इस पूरी प्रक्रिया को जब गांव में कुछ लोगों से पूछताछ किया गया तो यह मामला प्रेम प्रसंग का है कुछ माह पूर्व ग्राम निवासी गब्बू की पुत्री काल्पनिक नाम शीला के साथ विशाल का अवैध संबंध था 1 दिन विशाल और शीला किसी अज्ञात स्थान पर अकेले मिल रहे थे जिसे अमन तिवारी ने देख लिया था और इसकी जानकारी लड़की के पिता को दिया लड़की के पिता ने विशाल को पकड़ा और खूब पीटा इस के संदर्भ में ग्राम सभा में एक बैठक करके सुलहनामा बना कि अब दोबारा ऐसी गलती नहीं होगी इज्जत का मामला था मामले को ग्राम सभा के लोगों ने दबा दिया | लेकिन विशाल इस बात का बदला लेने के लिए अमन तिवारी को खोज रहा था क्योंकि अमन तिवारी ने ही इसकी सूचना दी थी इसी फिराक में 5 जून को ग्राम सभा के ग्राम प्रधान के घर पर तिलक समारोह था जिसमें अमन तिवारी आमंत्रित है रात्रि भोजन करने के उपरांत अमन तिवारी अपने मोटरसाइकिल से घर की तरफ रवाना हुए जब राम गोविंद सिंह के घर के सामने आए तब एक साथ विशाल सिंह एवं उसके सभी सहयोगी और नाना मिलकर धावा बोल दिए और गाड़ी रोक दिया यह पूछे जाने पर कि आप लोग क्यों गाड़ी रोके हैं इसी पर विशाल सिंह ने रामपुरी चाकू से अमन तिवारी के पेट में घोंप दिया जिससे अमन तिवारी घायल हो गए उसी समय गांव के कुछ युवक दौड़ते हुए देखा देखकर अमन को बचाने लगे तभी विशाल से अपने ऊपर चाकू से स्वयं हमला करके मामले को दूसरा तूल देने का प्रयास कर रहा था लेकिन गांव के लोगों ने देख चुके थे इस बात का भय था |और सभी लोग भाग निकले अमन तिवारी को गांव के एक घर पर तखत पर सुलाया गया उनके पिता और उनके रिश्तेदार जो घर पर आए थे मामा को सूचना दिया गया मौके पर भाग कर आए और अमन को गाड़ी में बिठा कर हटा सीएचसी हॉस्पिटल में एडमिट किया जहां डॉक्टरों ने इलाज के साथ-साथ गंभीर हालात को देखते हुए गोरखपुर मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया अमन तिवारी की हालत बेहद गंभीर है ओम प्रकाश मिश्रा जी के तहरीर पर थाना कोतवाली ने मुकदमा पंजीकृत किया जिसमें धारा 504 506 307 427 लगाकर विशाल सिंह, जालंधर, पलोधर , अदालत के साथ अन्य लोगों को मुकदमा पंजीकृत दिया गया अभी तक समाचार लिखे जाने तक कोई भी थाने से मेडिकल कॉलेज में अमन तिवारी की बयान लेने तक नहीं गया प्राप्त खबर के अनुसार विशाल सिंह गिरफ्तार हैं बाकी शेष अभियुक्त भागे हुए हैं पुलिस गिरफ्तार करने की बात कह रही है लेकिन अभी तक किसी की गिरफ्तारी विशाल सिंह को छोड़कर नहीं की गई अभियुक्त धमकी दे रहे हैं कि मुझे गिरफ्तार किया गया तो मैं पूरे परिवार को समाप्त कर दूं