बस्ती जिले के गौर थाना क्षेत्र में फर्जी 'पत्रकार की बाढ।*
*जिला प्रभारी गोपाल पांडेय की रिपोर्ट बस्ती*
बस्ती।क्षेत्र में इन दिनों फर्जी 'पत्रकार', 'प्रेस' और पुलिस लिखे गाड़ियों की भरमार हो गयी है । जहाँ भी जिस किसी चौक-चौराहे पर आप खडें हो जाएँ तो फिर जिधर भी आपकी नजर जाएगी 2-4 गाड़ी ऐसी दिख ही जाएगी जिसपर 'प्रेस' या 'पुलिस' लिखा होता है। इस 'विशेष सुविधा' का लाभ लेने से सीमावर्ती क्षेत्रों के तथाकथित फर्जी पत्रकार कभी भी चुकते नहीं हैं। आम गाड़ियों की अपेक्षा इन्हें अक्सर। मिलनेवाले वरीयता के कारण ढेरों लोग अपने गाड़ियों पर 'प्रेस' अंकित करवा कर अपना रोब झारते नजर आ जाते हैं। बिना सिर पैर बिना सिर पैर की इनकी योग्यता और प्रतिष्ठा की कद्र भले आम लोगों के नजर में ज्यादा नहीं हो लेकिन इस 'प्रेस' के टैग के सहारे ये फर्जी पत्रकार प्रशासन और पुलिस को धोखा देते हुए कई सारे असामाजिक कार्यों में भी लिप्त जैसे प्रतीत होते हैं।