एडीएम वित्त ने की गेहूॅ क्रय की समीक्षा
कमलाकर मिश्न की रिपोर्ट
देवरिया -जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन के निर्देशानुसार अपर जिलाधिकारी वित्त उमेश कुमार मंगला ने गेहूँ क्रय की प्रगति समीक्षा अपने कलक्ट्रेट कार्यकक्ष में की। उन्होने कम प्रगति वाले क्रय एजेन्सियों को फटकार लगाते हुए निर्देश दिया है कि वे कृषको से गेहूॅ खरीदने में किसी प्रकार की बहानेबाजी का रवैया नही अपनायेगें तथा क्रय का भुगतान कृषकों के खाते में 72 घंटे के अन्दर उसे हर हाल में सुनिश्चित करायेगें। इससे अधिक समय किसी भी दशा में न लगे, इसके लिये उन्होने सचेत किया। साथ ही उन्होने सभी क्रय प्रभारियों को गेहूॅ क्रय का भण्डारण भी कराये जाने का निर्देश दिया। एडीएम वित्त ने क्रय एजेन्सियों को निर्देश देते हुए कहा कि किसानों का भुगतान लम्बित न रहे, इसे सभी को सुनिश्चित करना होगा। बोरे आदि की अनुपलब्धता की बहानेबाजी नहीं अपनायेंगे। बोरा आदि पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। जनपद में बोरे की कहीं कमी नही है। सभी क्रय एजेन्सिया क्रय केन्द्रों पर बोरे की उपलब्धता सुनिश्चित रखेगें। श्री मंगला ने समीक्षा के दौरान पाया कि अब तक कुल 84055 मी0टन गेहूॅ मूल्य धनराशि 166.00 करोड की क्रय की जा चुकी है, जिसके सापेक्ष 124.27 करोड की धनराशि का भुगतान कृषकों के बैंक खातो में किया जा चुका है। शेष धनराशि का 41.74 करोड का भुगतान शीघ्र किये जाने का निर्देश दिया गया है। अब तक कुल 137 गेहॅू क्रय केन्द्रों के माध्यम से 17194 कृषकों का गेहूॅ क्रय किया गया है।बैठक में क्रय एजेन्सियों के प्रतिनिधि गण एवं अन्य संबंधित आदि उपस्थित रहे।