जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव: बागियों की बगावत व गुटबाजी के चलते सपा में घमासान
कृपाशंकर यादव की रिपोर्ट।
गाजीपुर। जिला पंचायत अध्‍यक्ष के चुनाव में समाजवादी पार्टी में बागियों की बगावत और पार्टी में गुटबाजी के चलते घमासान मचा हुआ है। जबकि ढाई दर्जन यदुवंशी सदस्यों वाली सपा के पास नवनिर्वाचित सदस्‍य हैं जिसमे सपा के अधिकृत सदस्‍य और बागी सदस्‍य भी शामिल हैं। समाजवादी पार्टी के पास इतनी तादात में सदस्‍य होने के बावजूद जिला पंचायत चेयरमैन के चुनाव में अभी हवा नही बना पा रही है1 इस संदर्भ में सपा बागियों के अगुवा राजेश यादव ने कहा कि सपा के बड़े नेता बागियों के साथ अन्‍याय कर रहे हैं, पहले तो हमको टिकट नही दिए इसके बावजूद हम निर्दल प्रत्‍याशी के रुप में चुनाव जीते अब चेयरमैन के चुनाव में भी हमारे साथ भेदभाव किया जा रहा है। पार्टी के बड़े नेता अधिकृत सदस्‍यों को एक टाट पर बिठा कर उनसे प्रमाण पत्र नही ले रहे हैं हम ही लोगों पर केवल घेराबंदी किया जा रहा है। श्री यादव ने कहा कि सपा के बड़े नेता अपने-अपने सदस्‍यों की सेटिंग कहीं दूसरे जगह करा रहे हैं और बागियों से केवल राजनीति की जा रही है। उन्‍ही के उपर सपा के हार का ठिकरा फोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। वहीं जिलाध्‍यक्ष रामधारी यादव ने कहा कि बागियों के साथ कोई भेदभाव नही की जा रही है उनको पूरा ससम्‍मान मिलेगा। पार्टी के जिला पंचायत सदस्‍य हमारे साथ हैं। कोई इधर-उधर नही गया है। परम्परा को कायम रखते हुए इस बार भी समाजवादी पार्टी की जीत होगी। लेकिन सियासी गलियारों में चर्चा है कि जिला पंचायत अध्‍यक्ष के चुनाव को लेकर समाजवादी पार्टी में गुटबाजी जोरों पर है। कुछ नेता गुट बनाकर अपना खुन्‍नस निकालना चाहते हैं और षड़यंत्र के तहत इस चुनाव में जंगीपुर विधायक डा. वीरेंद्र यादव को घेरने की कवायद शुरु हो गयी है कि किसी तरह पार्टी हाईकमान के यहां विधायक वीरेंद्र यादव की छवि धुमिल किया जाये।