डीएम ने की प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी एवं नगर निकायों के निर्माण कार्यो की समीक्षा
देवरिया- जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने कहा है कि प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के तहत द्वितीय किस्त प्राप्त सभी लाभार्थियों के निर्माणाधीन आवासो पर हर हाल में छत 15 जून तक अनिवार्य रुप से लगनी चाहिये तथा जिन लाभार्थियों को तृतीय किस्त प्राप्त हो चुकी है, उनके आवासो के सभी निर्माण कार्य पूर्ण होने चाहिये तथा जो नये आवेदन प्राप्त हुए है, उसका सत्यापन राजस्व विभाग के स्तर पर भी प्राथमिकता के आधार पर अवश्य ही सुनिश्चित कर लिया जाये, जिससे उनमें कोई विसंगति न रहे। जिलाधिकारी श्री निरंजन गूगल मीट के माध्यम से प्रधानमंत्री आवास योजना सहित नगर निकायों के निर्माण कार्यो की समीक्षा कर रहे थे। उन्होने सभी अधिशासी अधिकारियों को यह निर्देश दिया कि जो भी निर्माण कार्य चल रहे है, उसमें गुणवत्ता व पारदर्शिता अनिवार्य रुप से रखी जाये तथा जो भी अधूरे व रुके हुए कार्य है, उसे भी शीघ्रता के साथ कार्य प्रारम्भ कर पूर्ण किया जाये। उन्होने सभी नगर निकायों, नगर पालिकाओं को यह भी निर्देश दिया कि नगरीय क्षेत्रों में जल निकासी व जल जमाव की स्थिति कदापि न रहे, इसे सुनिश्चित करे। इसके जो भी निर्माण कार्य चल रहे है, उसे 25 जून तक प्रत्येक दशा में पूर्ण कर लिये जाये। जिलाधिकारी श्री निरंजन प्रधानमंत्री आवास योजना की समीक्षा में परियोजना अधिकारी डूडा विनोद कुमार मिश्र को निर्देश देते हुए कहा कि जिन लाभार्थियों को प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय किस्त भेजे जाने हो, उसे प्राथमिकता के तौर पर भेजे, ताकि लाभार्थी अपने आवास का निर्माण बरसात के पूर्व ही कर सके। इसके साथ ही जो भी आवेदन पत्र प्राप्त हुए है, उनका सत्यापन कार्य भी शीघ्रता से पूर्ण कराते हुए पात्रो का डीपीआर तैयार कर उन्हे भी धनराशि मुहैया कराने का कार्य किया जाये जिससे कि जरुरतमंद अपने आवासो का निर्माण शुरु करा सके। आयोजित इस गूगल मीट अपर जिलाधिकारी प्रशासन नगरीय निकायों के एक एक कार्य बिन्दुओं का विस्तृत कार्य विवरण प्रस्तुत किया तथा प्रधानमंत्री आवास व नगरीय निकायों के निर्माण कार्यो को जिलाधिकारी के निर्देशों अनुरुप सभी अधिशासी अधिकारी कार्यो को गुणवत्ता, समयबद्धता व पारदर्शिता के साथ उसे पूर्ण करायें। गूगल मीट में अधिशासी अभियंता जल निगम प्रदीप चौरसिया, अधिशासी अधिकारी नगरपालिका रोहित सिंह, पीओ डूडा विनोद कुमार मिश्र सहित सभी नगर निकायों व नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी गण एवं अन्य संबंधित अधिकारी व कर्मचारी गण आदि जुडे रहे।