पुलिस के लाठी चलाने का भी लोगों पर नही हो रहा असर , करो ना विस्फोट का कारण बन सकती है बैंकों के बाहर लगने वाली भारी भीड़
बिछिया बहराइच से अभयजीत प्रजापति की रिपोर्ट
लोग नहीं मान रहे कोरोना गाइड लाइन, मधुमक्खी के छत्ते की तरह लगा रहे है बैंको के बाहर भीड़
बिछिया(बहराइच)-बैंको के बाहर लग रही भीड़ के कारण कोरोना ग्राफ पुनः बढ़ने का खतरा मंडराने लगा है | अभी हाल फ़िलहाल उत्तर प्रदेश सरकार ने कुछ जिलों को छोड़कर बाकी प्रदेश में गाइड लाइन के तहत अनलॉक किया है परन्तु यह अनलॉक बैंको के लिए चुनौती बनी हुई है | क़स्बा मिहींपुरवा में चार बैंक है जिसमें लगातार कुछ दिनों से भरी भीड़ लग रही है , भारत सरकार की तरफ से मज़दूरों ,और फेरी वालो को भेजे गए पैसे इसकी मुख्य वजह है ,इसके साथ साथ धान का सीजन होने की वजह से खेतो को तैयार करना और धान की नर्सरी की बुवाई के लिए पैसो की जरूरत बरबस ही आदमी को बैंक की तरफ खींच ले जाती है जिससे बैंको के आगे मधुमक्खी के छत्ते की तरह भीड़ लग जाती है जिसमें मिहींपुरवा स्थित इंडियन बैंक का हाल बहुत बुरा है यहाँ सुबह 7 बजे से भीड़ लग्न शुरू हो जाती है जो शाम 5 बजे तक बानी रहती है बैंक प्रबंधन चैनल में टाला बंद करके लोगों को बाहर ही छोड़ देता है बाकि काम सुरक्षा कर्मी सम्हालते है कभी कभी स्थिति इतनी भयावह हो जाती है की सुरक्षाकर्मियों को लाठियां भी भांजनी पड़ती है | जिससे कई ग्राहक चोटिल भी हो जाते है | ग्राहकों के वाहनों से पूरी सड़क जाम हो जाती है |