उ0प्र0 राज्य आपदा प्रबंधन की उपाध्यक्ष ने किया आपदा प्रबंधन कार्यो की समीक्षा
कमलाकर मिश्र की रिपोर्ट
देवरिया-ले0 जनरल रविन्द्र प्रताप शाही उपाध्यक्ष उ0प्र0 राज्य आपदा प्रबंधन ने विकास भवन गांधी सभागार में आपदा प्रबंधन कार्यो की गहन समीक्षा जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन, मुख्य विकास अधिकारी शिव शरणप्पा जी एन, सीएमओ डा आलोक पाण्डेय सहित प्रशासनिक अधिकारियों व अन्य जुडे विभागो के अधिकारियों के साथ किए। इस दौरान उन्होने सभी अधिकारियों को टीम भावना के साथ आपदा प्रबंधन के कार्यो को किए जाने एवं तैयारियों को पूर्ण रखे जाने का निर्देश दिया। उन्होने कहा कि आपदा प्रबंधन में जन जागरुकता भी आवश्यक है, इसके लिए जो भी ऐहतियात उपायों, सजगता व तत्परता बरतें जाने हो, उसे लोगो तक पहुॅचाए और उन्हे जागरुक करें।उपाध्यक्ष राज्य आपदा प्रबंधन श्री शाही ने कहा कि प्रभावितों लोगों तक अनुमन्य सुविधाओं को पहुॅचाने की कोशिश होनी चाहिए, इसके लिए सभी को संवेदनशील होकर कार्य करना चाहिए। अनुमन्य सुविधायें राहत सामाग्रियां जनता तक पहुॅचे यह सभी को सुनिश्चित करना चाहिए। जनता की तकलीफो को दूर करना जहां हम लोगो की जिम्मेदारी है, वहीं ऐसा वातावरण विकसित हो कि उन्हे कोई तकलीफ ही न हो, इस प्राथमिकता के साथ कार्य किया जाए। श्री शाही ने कहा कि आपदा प्रबंधन के उपायों से लोगो को जागरुक किए जाने की आवश्यकता के दृष्टिगत मण्डियों, बाजारो में उसका व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जाए, जिससे कि ग्रामीण स्तर के लोग🔥 एहतियाती उपायो के प्रति जागरुक रहे और आपदाओं से होने वाले जान-माल की नुकसान से अपने आप को बचा सके। उन्होने नावो की क्षमता से कम ही व्यक्तियो को बैठाए जाने पर बल दिया। कहा कि इसका सही रुप से अनुश्रवण किया जाए। नावों का फिटनेस व घाटों पर दिशा निर्देशों का बोर्ड डिस्प्ले कराए जाने का भी निर्देश दिया। उन्होने समीक्षा के दौरान जिला प्रशासन द्वारा तैयार की गयी प्रबंधन कार्यो पर सन्तोष जताते हुए कहा कि काफी अच्छी तैयारी की गयी है। ग्रामीण स्तर पर लेखपालो व ग्राम प्रधानो की भी सहभागिता ली जाए। उन्होने दामिनी एप्प से लोगो को जोडे जाने पर भी बल दिया। जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने कहा कि ग्राम प्रधानो की उन्मुखीकरण कार्यशाला निकट दिनो में प्रस्तावित है। मुख्य विकास अधिकारी एवं डीपीआरओ द्वारा इस कार्यशाला में उन्हे आपदा प्रबंधन के प्रति जागरुक किया जायेगा। साथ ही ग्रामीण हाट, मण्डियों एवं नगर निकायो व पंचायतों में आपदा उपायों की जानकारी दिए जाने हेतु प्रचार प्रसार संबंधित अधिकारियों के माध्यम से कराया जायेगा तथा दामिनी एप्प से भी लोगो को जोडा जायेगा, जिससे कि आने वाले आपदायें, आकाशीय बिजली गिरने आदि की जानकारी पूर्व में ही मिल जायेगी जिससे लोग सर्तक हो जायेगें और अपना बचाव कर सकेगें। मुख्य विकास अधिकारी श्री जी एन ने कहा कि बैठक में जो भी सुझाव व निर्देश प्राप्त हुए है, उसका अक्षरशः पालन कराया जायेगा। समीक्षा के दौरान सीआरओ व आपदा प्रबंधन प्रभारी अमृत लाल बिन्द, सीएमओ डा आलोक पाण्डेय, सीएफओ एस एस राय, सीवीओ डा विकास साठे, अधिशासी अभियंता बाढ एन के जाडिया, जिला कृषि अधिकारी मो0 मुजम्मिल एवं उप जिलाधिकारी बरहज संजीव कुमार यादव, रुद्रपुर संजीव कुमार उपाध्याय, सदर सौरभ सिंह आदि द्वारा अपने विभाग की तैयार कार्य योजनाओं के एक-एक बिन्दुओं पर विस्तृत जानकारी दी गयी। इस बैठक में अपर जिलाधिकारी प्रशासन कुंवर पंकज, प्रभागीय निदेशक वानकी वी के पाण्डेय, जी एम जी आई सी अनुराग यादव सहित अन्य जनपद स्तरीय आपदा प्रबंधन से जुडे विभागो के अधिकारी आदि उपस्थित रहे।