माता-पिता वरिष्ठ नागरिको के भरण पोषण कल्याण नियमावली का कड़ाई से हो अनुपालन-डीएम
कमलाकर मिश्न की रिपोर्ट
देवरिया -जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने कहा है कि सोशल सेक्टर की संचालित योजनाओं से जुडे सभी अधिकारी व विभाग इसके क्रियान्वयन में पूरी रुचि, तन्मयता दर्शित करते हुए इसका लाभ पात्रो तक अनिवार्य रुप से पहुॅचायें, इसमें किसी प्रकार की शिथिलता व विलम्ब कदापि नही होनी चाहिये। उन्होने सोशल सेक्टर की संचालित विभिन्न योजनाओं के लम्बित आवेदन पत्रों का सत्यापन तीन दिन के अन्दर सघन अभियान चलाकर पूर्ण किए जाने का निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिया है। कहा है कि जरुरतमंदो से जुडी इन योजनाओं में पूरी तत्परता बरतें और उसे तय समय सीमा के अन्तर्गत सत्यापित करें। जिलाधिकारी श्री निरंजन गूगल मीट के माध्यम से सोशल सेक्टर की समीक्षा में उक्त निर्देश दिये। उन्होने उत्तर प्रदेश माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों के भरण-पोषण तथा कल्याण नियमावली 2014 का पालन पूरी कडाई के साथ संवेदनशीलता बरतते हुए कराए जाने को कहा। उन्होने कहा कि उप जिलाधिकारी इसका नियमित अनुश्रवण करते हुए इसका लाभ वृद्ध जरुरतमंदों को पहुॅचाएं। उन्होने कहा कि वास्तव में यह योजना वृद्ध, बुजूर्गो को उपेक्षा से बचाते हुए उन्हे भरण पोषण की सुविधायें उपलब्ध कराये जाने में काफी अहम है। इसमें सभी का समन्वय अत्यन्त ही आवश्यक है। उन्होने जिला समाज कल्याण अधिकारी को तीन दिन उपरान्त लम्बित प्रकरणों का डाटा प्रस्तुत किए जाने का भी निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने सभी खंड विकास अधिकारियों एवं उप जिलाधिकाारियों को वृद्धा अवस्था के लम्बित आवेदन पत्रो, नये पेंशन की स्वीकृति, परिवारिक लाभ योजना, शादी अनुदान आदि के लम्बित प्रकरणों का सत्यापन किये जाने का निर्देश दिया। उन्होने अनुसूचित जाति वित्त विकास निगम की संचालित योजना पं0दीन दयाल उपाध्याय स्वरोजगार योजना, छात्रवृत्ति, दिव्यांग पेंशन, प्रधानमंत्री जन विकास योजना आदि की गहन समीक्षा कर आवश्यक निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। समाज कल्याण अधिकारी नीरज अग्रवाल द्वारा सभी कार्य योजनाओं की बिन्दुओं के प्रगति आकडे को प्रस्तुत करते हुए उसकी समीक्षा करायी गयी। इस बैठक में जिला विकास अधिकारी श्रवण कुमार राय, पीडी संजय पाण्डेय, समाज कल्याण अधिकारी व अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी नीरज अग्रवाल, दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी मीनू सिंह, एसडीएम सदर सौरभ सिंह, रुद्रपुर संजीव कुमार उपाध्याय, भाटपाररानी ध्रुव कुमार शुक्ला, डीसी मनरेगा गजेन्द्र तिवारी सहित सभी खंड विकास अधिकारी एवं अन्य संबंधित अधिकारी आदि जुडे रहे।