गौशालाओं मे लापरवाही बेजुबान परेशान
रिपोर्टर जयशंकर मिश्र खेसरहा/सिद्धार्थनगर
खेसरहा /सिद्धार्थनगर जानवरों के जिम्मेदारों की लापरवाही से समय से नहीं मिल रहा पशुओं को चारा सिद्धार्थनगर। जहाँ एक तरफ उत्तर प्रदेश की योगी सरकार हर गौशालाओं पर डाक्टर से लेकर सिक्रेटरी ग्राम प्रधान, एवं आला अधिकारियों को भी देखभाल के लिए नियुक्त किया है और करोड़ों रुपये की वजट खर्च कर रही है। वहीं सिद्धार्थनगर जिले के विकास खण्ड खेसरहा के ग्राम पंचायत खेसरहा मे आस्थाई गौ आश्रय में जिम्मेदारों की लापरवाही से गौशाला का दृश्य इन दिनों बद से भी बत्तर हो गया है। वेजुवान जानवर जिन्हें गौ माता माना जाता है और हमारे हिन्दू धर्म में इनकी पूजा भी की जाती है। वही बिना रखरखाव एवं देख भाल के इस गौशाला में लगभग आधा दर्जन से अधिक गोवंश मरणासन्न स्थित में है। वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गौ संरक्षण को लेकर जारी आदेशों को भी दरकिनार कर ही रहे वहीं जिलाधिकारी दीपक मीणा द्वारा ब्लाक के जिम्मेदारों को दिये गये सख्त निर्देश कि गौशाला मे गोवंशीय पशुओं के लिए सभी समुचित व्यवस्था की जाय को भी नजर अंदाज कर रहे हैं। बृहस्पतिवार को खेसरहा विकास खण्ड के ग्राम पंचायत खेसरहा में बने अस्थाई गौशाला में जिम्मेदारों की लापरवाही से आधे से अधिक संख्या में गोवंशो को खाने के लिए कोई व्यवस्था नहीं हैं।गौशाला के जिम्मेदारों की लापरवाही देखने को मिल रहा है, जो काम कर रहे हैं उन को तीन महीने पैसे नहीं मिल रहे हैं विश्वनाथ पुत्र मिठाईलाल, रामदयाल पुत्र गजराज, मनराम पुत्र सहदेव,इन जानवरों को तड़पता देख दिल दहल जाता है, आखिर इसका जिम्मेदार कौन होगा |