प्रहलाद दास बाबा की समाधि न बनाने देने पर ग्रामवासियों व वनकर्मियों में हुई झड़प
अभय
जीत बिछिया(बहराइच)-कतर्नियाघाट वन्यजीव प्रभाग के मोतीपुर वन रेंज अंतर्गत स्थित नागा बाबा के स्थान पर वर्षों से रह रहे नागा बाबा के सेवक पुजारी प्रहलाद दास बाबा की शनिवार की तड़के सुबह मौत हो गई | नागा बाबा के अनुयाई तथा प्रहलाद दास बाबा के भक्त प्रहलाद दास बाबा के शव को नागा बाबा के समाधि के पास ही दफनाना चाहते थे | जबकि वन विभाग जंगल में दूसरी समाधि न बनने देने का हवाला देते हुए शव को दफनाने से मना कर दिया | नागा बाबा को मानने वाले भक्तों की भारी भीड़ मौके पर जमा हो गई | शांति व सुरक्षा व्यवस्था के दृष्टिगत वन विभाग व पुलिस टीम मौके पर तैनात है | भारी संख्या में जुटे ग्रामीणों ने कतर्निया बहराइच मार्ग जाम कर दिया | प्रहलाद दास बाबा की समाधि नागा बाबा के बगल में ही जंगल में बनाने के लिए हिंदू संगठन से जुड़े लोग भी आक्रोशित हो उठे | भीड़ के आक्रोश व हिंदू संगठनों तथा अनुयायियों की मांग को देखते हुए अंत में वन विभाग को झुकना पड़ | साम लगभग 4.30 बजे पीएसी व वन विभाग के कर्मचारियों की उपस्थित मे जंगल मे स्थित बाबा के आश्रम पर ही ग्रामीणो द्वारा अंतिम संस्कार कर दिया गया ।