श्रम विभाग की संचालित योजनाओं का लाभ जरुरतमंदों तक पूरी पारदर्शिता के साथ पहुॅचाएं-डीएम
कमलाकर मिश्र की रिपोर्ट
देवरिया -जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने श्रम विभाग की संचालित योजनाओं को पूरी पारदर्शिता निष्पक्षता के साथ पात्र जनो तक पहुॅचाएं जाने एवं उसका सफलीभूत क्रियान्वयन सुनिश्चित किए जाने का निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिया है। उन्होने कहा है कि श्रम विभाग की योजनाएं वस्तुतः जरुरतमंदों से जुडी होती हैं। इसमें किसी भी स्तर पर कोई कोताही नही होनी चाहिए। जिलाधिकारी श्री निरंजन श्रम विभाग के कार्यो की समीक्षा गूगल मीट द्वारा कर रहे थे। उन्होने सभी निर्माण श्रमिकों एवं मनरेगा श्रमिकों को अवगत कराते हुए कहा है कि श्रमिक पंजीयन कार्यालय द्वारा बंद कर दिया गया है, ऐसे निर्माण श्रमिक जो विगत एक वर्ष में 90 दिन कम से कम मजदूरी का कार्य किए हो, वे अपना पंजीकरण निकट सहज जन सेवा केंद्रों अथवा पब्लिक लॉगिन द्वारा करा सकते है। उन्हे 90-90 दिन के मजदूरी का घोषणा पत्र एक फोटो, आधार कार्ड, स्वप्रमाणित बैंक पासबुक व मोबाइल नंबर के साथ सहज जन सेवा केंद्रों पर जाकर कराना होगा। श्रमिक पंजीयन पूर्णतया निशुल्क है तथा समस्त कार्यदायी संस्थाआ द्वारा भी निर्माण से संबंधित कार्य कराए जा रहे हैं। वे निर्माण श्रमिकों का पंजीयन अपने अधिष्ठान द्वारा अवश्य ही करा लें, जिससे कि ऐसे जरुरमंद श्रमिक योजनाओं का लाभ उठा सके। इस बैठक में प्रशासनिक अधिकारियों सहित श्रम प्रर्वतन अधिकारी शशि सिंह व अन्य संबंधित जन जुडे रहे।