कथा सम्राट मुंशी प्रेमचंद जी की जयंती मनाई गई
कृपाशंकर यादव
ग़ाज़ीपुर । 31 जुलाई को कथा सम्राट मुंशी प्रेमचंद की जयंती पर अखिल भारतीय कायस्थ महासभा गाजीपुर के तत्वाधान में जिलाध्यक्ष अरुण कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में सरजू पांडे पार्क में कथा सम्राट मुंशी प्रेमचंद की जयंती मनाई गई । गोष्ठी आरंभ होने के पूर्व महासभा के सभी कार्यकर्ताओं ने उनके चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए समाज में व्याप्त कुरीतियों एवं कुप्रथाओं के खिलाफ संघर्ष करने का संकल्प लिया । महासभा के जिलाध्यक्ष अरुण कुमार श्रीवास्तव ने उनके व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि वह हिंदी साहित्य के महान लेखक ही नहीं वह एक महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी भी थे । स्वतंत्रता आंदोलन में उन्होंने ब्रिटानी हुकूमत के खिलाफ जमकर कलम चलायी । वह हमेशा समाज में व्याप्त कुरीतियों, कुप्रथाओं के खिलाफ संघर्ष करते रहे । वह साहित्य को सच्चाई के धरातल पर उतारने वाले लेखक थे । वह अपने लेखनी से सदैव समाज में व्याप्त गैरबराबरी समाप्त कर समतामूलक समाज की स्थापना के लिए संघर्षरत रहे । आज जब देश में जाति और धर्म के नाम पर नफरत फ़ैलाने की कोशिश हो रही है ऐसे दौर में मुंशी प्रेमचंद जी आज भी प्रासंगिक हो उठे हैं । इस अवसर पर मुख्य रूप से कौशल श्रीवास्तव, परमानन्द श्रीवास्तव, चन्द्रप्रकाश श्रीवास्तव,अमर सिंह राठौर, विवेक श्रीवास्तव,आनन्द श्रीवास्तव,गौरव श्रीवास्तव, अमरनाथ श्रीवास्तव, अरुण सहाय, राजेश कुमार श्रीवास्तव,आशुतोष श्रीवास्तव, कमल श्रीवास्तव,अश्वनी कुमार श्रीवास्तव, नन्हें,नवीन श्रीवास्तव,इन्द्रजीत आदि उपस्थित थे । इस गोष्ठी का संचालन जिला महामंत्री अजय कुमार श्रीवास्तव ने किया ।