शासन प्रशासन के आदेश के बाद भी नहीं हटा अवैध कब्ज़ा
कुंवर केहर सिंह रिपोर्टर बहराइच जनरल फिजिसीयन के ऊपर जाति सूचक गाली देने का लगाया गया फर्जी आरोप*
जनपद बहराइच के थाना दरगाह शरीफ अंतर्गत सासारपरा चौराहा पर एक निजी क्लीनिक के सामने दुखहरण के द्वारा अवैध झोपड़ी बनाए हुए हैं जो कि क्लीनिक में आ रहे मरीजों के लिए रास्ता नहीं है डॉ मकसूद रजा एक दिन कहने लगे की झोपड़ी हमारी क्लीनिक के सामने है इसको हटवा लो तो विपक्षी द्वारा हरिजन एक्ट मुकदमे में फंसाने की धमकी देते हुए थाने को चला गया जानकारी के मुताबिक डॉ मकसूद रजा मियां बीवी दोनों लोग पेसे से डॉक्टर हैं डॉ मकसूद रजा जनता क्लीनिक के नाम से अपनी क्लीनिक चला रहे हैं व इनकी पत्नी इशरत जहां डॉ मक़सूद रजा एक संभ्रांत व्यक्ति हैं जो कि मार पीट गाली गलौज से बहुत दूर रहते हैं दुख हरण के द्वारा डॉ मक़सूद रजा के ऊपर फर्जी तरीके से आरोप लगाया जा रहा है कि जाति सूचक गाली देते हुए मार पीट का भी आरोप लगाया गया है जब हमारे संवाददाता ने डॉ मक़सूद रजा से पूरी जानकारी ली तो पता चला की दुख हरण एक दबंग व जिद्दी टाइप का व्यक्ति है डॉक्टर साहब के द्वारा बताया गया कि जिला अधिकारी बहराइच, उप जिलाधिकारी बहराइच अधिशासी अभियंता बहराइच के द्वारा आदेश किया गया है अवैध कब्जा तुरंत हटाया जाए लेकिन अवैध कब्जा हटाने का नाम ही नहीं ले रहे हैं अब आखिर सवाल यह उठता है कि ऐसे संभ्रांत व्यक्तियों पर झूठे आरोप कब तक लगाए जाएंगे या फिर झूठे आरोप लगाने वालों पर होगी कोई कार्यवाही