मुख्यमंत्री द्वारा आज जनसंख्या नीति का किया गया विमोचन
कमलाकर मिश्न की रिपोर्ट *आरटीपीसीआर लैब एव पीएचसी, सीएचसी एप्प का बटन दबाकर किया गया वर्चुअल लोकार्पण* डीएम द्वारा जनसंख्या नियंत्रण के प्रति जागरूकता वाहन को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना देवरिया- विश्व जनसंख्या दिवस के अवसर पर रविवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा जनसंख्या नीति का विमोचन, आरटीपीसीआर लैब एव पीएचसी, सीएचसी एप्प का बटन दबा कर वर्चुवल शुभारंभ किया गया। इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह, स्वास्थ्य राज्य मंत्री अतुल गर्ग तथा मुख्य सचिव आदि उपस्थित रहे। जनसंख्या नीति 2021 के बारे में विस्तार पूर्वक प्रकाश डाला गया। कहा गया कि मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में कमी सबसे आवश्यक है। जनसंख्या को गुणात्मक तरीके से नियंत्रित करने का कार्य विभाग द्वारा किया जाए, जिससे की प्रदेश, देश का स्वास्थ्य स्तर में सुधार होकर विकासात्मक लक्ष्य को प्राप्त करने में सहायता मिलेगी। इस पूरे वर्चुवल उद्बोधन व शुभारंभ का प्रसारण जिला चिकित्सालय के उद्घाघाटित आरटीपीसीआर लैब में किया गया जिसमें जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन, पुलिस अधीक्षक डा श्रीपति मिश्र, मुख्य चिकित्साधिकारी डा आलोक पांडेय, प्राचार्य मेडिकल कॉलेज ए एम वर्मा सहित स्वास्थ्य विभाग के अन्य चिकित्सक, स्वास्थ्य कर्मी आदि इस वर्चुअल कार्यक्रम से जुड़े रहे। जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन द्वारा सजे हुए प्रचार वाहन को हरी झंडी दिखाकर एनएचएम कार्यालय देवरिया से रवाना किया गया। इसके साथ ही उन्होंने आरटीपीसीआर लैब का लोकार्पण फीता काट कर किया। उन्होंने जनसंख्या नियंत्रण हेतु जन जागरूकता पर बल दिया और कहा कि कम परिवार सुखी एव विकास का प्रमुख आधार है, इसलिए परिवार नियोजन के तरीकों को अपनाए व इसके लिए जागरूक भी बने। उन्होंने कहा कि जनपद में अब आरटीपीसीआर लैब स्थापित हो जाने से कोविड जांच में सुविधा होगी और जांच रिपोर्ट तत्कालिक रूप से मिलेगी, जिससे इलाज करने में सुविधाजनक होगा। इस अवसर पर अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ सुरेन्द्र चौधरी, डॉ बी.पी. सिंह, डॉ राजेन्द्र प्रसाद, क्षय रोग अधिकारी डॉ बी झाँ, वरिष्ठ चिकित्सक डॉ डी.के सिंह, डॉ एच. के. मिश्रा, मेडिकल कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉ आनन्द मोहन वर्मा, एनएचएम देवरिया कार्यालय से डीपीएम पूनम, डीसीपीएम डा० राजेश कुमार गुप्ता, परामर्शदाता विश्वनाथ मल्ल, संजय त्रिपाठी, राजेन्द्र सिंह, दिनेश्वर मिश्रा, डॉ अखिलेश त्रिपाठी, डॉ जफर अनिश आदि उपस्थित थे।