न्यायधीश ने किया जिला कारागार का औचक निरीक्षण
कमलाकर मिश्र की रिपोर्ट
देवरिया-जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव न्यायधीश आरिफ निसामुद्दीन ने कहा कि जिन महिला बन्दियों के अधिवक्ता नही है उन्हे पैरवी हेतु अधिवक्ता उपलब्ध कराये जाएं। उन्होने जेल में बढते कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए साफ सफाई पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिये। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष रविनाथ के मार्गदर्शन में राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा जारी एक्शन प्लान के अनुपालन में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव व न्यायिक अधिकारी द्वारा जिला कारागार का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान सचिव ने बन्दियों से वार्ता कर उनकी समस्याओ को सुना। नवांगतुक बन्दियों ने पैरवी के लिये अधिवक्ता न होने का कथन किया उन्हे तत्काल पैनल लायर्स की सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।  सचिव द्वारा जेल के चिकित्सालय का निरीक्षण किया गया। बन्दियों को उनके उनकी बीमारी के मुताबिक पोषण व भोजन, दूध देने को जेल के चिकित्सक को निर्देशित किया कोविड-19 महामारी के चलते जिला कारागार में अस्थायी जेल स्थापित की गयी है जिसमें महिला बंदी व पुरूष बन्दियों के लिये अलग-अलग व्यवस्था की गई है। जेल विजिटर को निर्देश दिये गये कि जिन बन्दियों को उनके मुकदमें सम्बन्धी जो भी समस्या हो उसकी लिस्ट बनाकर मेरे समक्ष रखे।सचिव ने कहा जिसमें सुलह के आधार पर बन्दी अपने मुकदमे निपटा सकते है। निरीक्षण के समय जेलर जितेंद्र तिवारी, जेल विजिटर, राजू यादव रूपेश मिश्रा आदि उपस्थित रहे।