निघासन ब्लाक प्रमुख चुनाव में किंगमेकर बनकर उभरे विकास अग्रवाल और उनकी टीम
लखीमपुर खीरी से विमल मिश्रा की रिपोर्ट
*भाजपा समर्थित उम्मीदवार को 25 वोटों से शिकस्त देकर लहराया जीत का परचम लखीमपुर खीरी।ब्लाक प्रमुख के चुनाव यूँ तो हर पांच साल बाद होते हैं लेकिन निघासन ब्लाक का इस बार का ब्लाक प्रमुख शायद ही यहां के लोगों को कभी भूले।यहाँ के युवा भाजपा विधायक शशांक वर्मा ने इस चुनाव को सीधे अपनी प्रतिष्ठा का सवाल बना लिया था।यही वजह से अपने उम्मीदवार को जिताने के लिए विधायक ने कोई कसर बाकी नहीं रखी।विधायक के आडियो वीडियो भी खूब वायरल हुए।लेकिन हुआ हुआ जो यहां के ज्यादातर क्षेत्र पंचायत सदस्य चाहते थे।सपा समर्थित उम्मीदवार हरप्रीत कौर पत्नी अमनदीप सिंह को तगड़ी जीत मिली।उन्हें जहां 85 वोट मिले वहीं भाजपा समर्थित उम्मीदवार सुनीता देवी पत्नी ध्रुव वर्मा को मात्र 65 वोटों से ही संतोष करना पड़ा। सपा समर्थित उम्मीदवार हरप्रीत कौर की जीत में निघासन के युवा समाजसेवी और पूर्व ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि विकास अग्रवाल और उनकी टीम का बहुत बड़ा रोल रहा।विकास और उनकी पूरी टीम आखिर तक अमनदीप के साथ डटी रही।जिस तरह से भाजपा विधायक शशांक वर्मा अपने उम्मीदवार को जिताने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगाए हुए थे और और प्रधानों से लेकर कोटेदारों तक की बैठकें बुलाकर उन्हें निर्देश दे रहे थे उससे विकास अग्रवाल और उनकी टीम सतर्क तो रही पर जरा सा भी विचलित नहीं हुई।चुनाव के दिन तो इस टीम और विधायक की झड़प भी तक हो गयी।विधायक पर सपा समर्थित उम्मीदवार के पति को धमकाने के आरोप भी लगे।सिर्फ आरोप ही नहीं लगे बल्कि इसका वीडियो भी सोशल मीडिया में वायरल हुआ।लेकिन विकास अग्रवाल और उनकी टीम सत्ता पक्ष की हनक से विचलित नहीं हुई।आखिरकार वही हुआ जिसका अनुमान था।भाजपा समर्थित उम्मीदवार को करारी हार मिली और सपा समर्थित उम्मीदवार के सिर पर जीत का सेहरा बंधा। सत्ता पक्ष के तमाम हथकंडों और तमाम प्रयासों के बावजूद सपा उम्मीदवार को जिस तरह से 25 वोटों के बड़े अंतर से जीत मिली उसमें विकास अग्रवाल और उनकी टीम का बहुत बड़ा रोल रहा।इस जीत में विकास अग्रवाल किंगमेकर के रूप में उभरकर सामने आए हैं।उनकी टीम के साथी भी बिना डरे और बिना झुके आखिर तक मैदान में डटे रहे।इस जीत ने क्षेत्र में विकास अग्रवाल को जहां हीरो बना दिया है वहीं सत्तापक्ष को 2022 के विधानसभा चुनाव के मद्देनजर आत्ममंथन करने का अवसर दिया है।