दो ब्लाक प्रमुख समर्थको को जीताकर विधायक सुभाष पासी ने अपने राजनैतिक शक्ति का दर्ज कराया एहसास*
सैदपुर तहसील प्रभारी सुभाष सिंह यादव की रिपोर्ट।
गाजीपुर। समाजवादी पार्टी भले ही ब्‍लाक प्रमुख के चुनाव में करिश्‍मा न दिखा पायी हो लेकिन उसके विधायक सुभाष पासी ने अपने समर्थको दो ब्‍लाक प्रमुखो को जीता कर राजनीति में अपने शक्ति का एहसास कराया है। दशको से पूर्वांचल के गांधी के नाम से विख्‍यात रामकरन दादा के पौत्र को सपा ने विधायक सुभाष पासी से बिना पूछे टिकट दिया जिसपर विधायक नाराज हो गये और जिलाध्‍यक्ष पर अव्‍यवस्‍था का आरोप लगाते हुए सपा के समर्थक हीरा यादव का खुलेआम समर्थन किया और हीरा यादव ने इस चुनाव को 20 मतों से ऐतिहासिक जीत दर्ज किया। सुभाष पासी ने बताया कि हमारे पार्टी के नेता सच्‍चेलाल यादव जेल में है, उनकी पत्‍नी को हमने खुलेआम समर्थन दिया और वह निर्विरोध चुनी गयी। विधायक सुभाष पासी सैदपुर विधानसभा से विकट परिस्थितियो में दो बार विधायक चुने गये है। पहली बार 2012 के विधानसभा चुनाव में 40 हजार मतो से विजय प्राप्‍त किया और दूसरी बार भाजपा के लहर में भी 18 हजार मतो से ऐतिहासिक जीत करते हुए पूर्वांचल के दिग्‍गज दलित नेताओ में अपना नाम दर्ज कराया। आने वाले विधानसभा चुनाव में यह दिग्‍गज विधायक क्‍यो करिश्‍मा दिखाता है यह समय बतायेगा।