एंबुलेंस कर्मचारियों की हड़ताल से मची अफरातफरी
तहसील प्रभारी विक्रम सिंह रिपोर्टर
बहराइच- जिला बहराइच में महिला अस्पताल पर सभी एंबुलेंस के कर्मचारी धरना प्रदर्शन किया और बताया और कहा कि एंबुलेंस संघ के समस्याओं का तत्काल सरकार अथवा कंपनी निवारण नही करती है यो यह संगठन पूरे उत्तर प्रदेश के कर्मचारियों के साथ 23 से 25 जुलाई तक शांति पूर्ण तरीके से और अगर मांगे नही मानी जाएंगी तो 26 तारीख से पूर्ण रूप से कार्य बहिष्कार कर पूरे प्रदेश में एक बड़ा आंदोलन करेंगे, जिसकी जिम्मेदारी सरकार तथा कंपनी की होगी । मुख्य मांगे ए
oएलoएसo एंबुलेंस पर कार्यरत कर्मचारियों को कंपनी बदलने पर कर्मचारियों को ना बदला जाए अनुभवी कर्मचारियों को ही रक्खा जाए। कोरोना महामारी के दौरान अग्रणी भूमिका निभा रहे कोरोना योद्धाओ, कोरोना वारियर्स एंबुलेंस कर्मचारी को ठेकेदारी से मुक्ति दी जाए । कोरोना काल में शहीद हुए आश्रितो के परिवार को जल्द बीमा राशि 50,00000/- और सहायता राशि सरकार की तरफ से जारी हो और कंपनी बदलने पर वेतन में किसी भी तरह की कटौती ना की जाय सभी एंबुलेंस कर्मचारियों को नेशनल हेल्थ मिशन के अधीन नहीं किया जाता है तब तक मिनिमम वेज तथा 4 घंटे की ओo टीo दिया जाय, 23000 लगभग व प्रतिवर्ष महंगाई भत्ता भी दिया जाए कर्मचारियों की सहानुभूति पूर्वक यथास्थिति नौकरी पर रखा जाय प्रशिक्षण शुल्क के नाम पर कर्मचारियों से डीo डीo ना ली जाए हम सभी कर्मचारी पूर्व कंपनी में सेवा दे रहे है और प्रशिक्षित कर्मचारी है अगर संगठन के सभी मांगों को सरकार व कंपनी नही मानती है तो 26 जुलाई को महाआंदोलन के लिए बाध्य होगा जिसका जिम्मेदार सरकार व कंपनी होगी