फर्जी दरोगा बन नवनिर्वाचित प्रधानों से मांग रहा था रूपया
कमलाकर मिश्र की रिपोर्ट
देवरिया जिले के सलेमपुर क्षेत्र में एक व्यक्ति ने अपने आप को कोतवाली का दरोगा बताकर नवनिर्वाचित प्रधानों से जालसाजी कर रकम की मांग कर रहा है। इसका ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल होते ही पुलिस की नींद उड़ गई। जांच में पता चला है कि इस नाम का कोई दरोगा कोतवाली में नहीं है। मामले को गंभीरता से लेते हुए कोतवाल ने प्रधानों से फर्जी दरोगा की बातों में नहीं आने की अपील की।सलेमपुर विकास खंड के बिदवलिया के प्रधान महेश्वर मिश्र बबलू को मंगलवार की रात एक फोन गया। फोन करने वाले ने अपने को सलेमपुर कोतवाली में तैनात दारोगा बताया। साथ ही बताया कि आप आनलाइन रुपया ट्रांसफर करते हैं। जिस पर ग्राम प्रधान ने हामी भर दी। इसके बाद उसने बताया कि एक दोस्त को 25 हजार रुपये ट्रांसफर करना है। संदेह होने पर ग्राम प्रधान ने कोतवाल नवीन कुमार मिश्र से फोन पर बात की। जब जांच किया गया तो पता चला कि सलेमपुर कोतवाली में उस नाम का तो कोई दारोगा ही तैनात नहीं है। इसके बाद कोतवाल ने सभी प्रधानों से इस तरह के फोन आने पर सचेत रहने की अपील की है। बताया जा रहा है कि कई और ग्राम प्रधानों को भी यह जालसाज फोन कर चुका है। प्रभारी निरीक्षक नवीन कुमार मिश्र ने कहा कि वह कोई जालसाज है इसका नंबर सर्विलांस पर लगाया है। इस नाम का कोई दारोगा मेरे यहां नहीं है। इसी तरह जालसाज ने अन्य प्रधानो के मोबाइल पर फोन कर रुपये की मांग की है। कई प्रधानों ने इस तरह का नाम बदलकर फोन पे से पैसा भेजने की शिकायत की है।