मेडिकल कॉलेज में प्रथम सत्र के प्रवेश के लिए लगभग सभी तैयारियां पूर्ण-सीएम योगी आदित्यनाथ
कमलाकर मिश्र की रिपोर्ट
देवरिया- प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जनपद में निर्माणाधीन महर्षि देवरहा बाबा स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय का निरीक्षण किया। संबंधित अधिकारियों के साथ समीक्षा कर आवश्यक निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने निरीक्षण के दौरान एएनटीई रुम, हिस्टोलाजी लैब, ट्यूटर कक्ष, बायोकेमिस्ट्री लैब, लेक्चर रुम आदि का निरीक्षण किए। उन्होने कार्यो पर सन्तोष जताते हुए इन्फ्रास्ट्रक्चर, फर्नीचर सहित अन्य आवश्यकताओं की पूर्ति शीघ्रता से सुनिश्चित कर लेंने का निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिया और कहा कि इसमें कही कोई कोताही नही होनी चाहिए। उन्होने इसके उपरान्त अधिकारियों के साथ निर्माण कार्यो एवं संसाधनो, इन्फ्रास्ट्रक्चर आदि की उपलब्धताओं की समीक्षा कार्यदायी संस्थाओं आदि के साथ किए और उन्हे भी आवश्यक निर्देश दिए। मेडिकल कालेज परिसर में उन्होने वृक्षारोपण भी किया। इसके बाद मुख्यमंत्री ने मीडिया से वार्ता करते हुए कहां कि देवरिया में देश के यशस्वी प्रधानमंत्री की प्रेरणा से प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के अन्तर्गत इस सत्र में ही महर्षि देवरहा बाबा स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय प्रवेश के लिए पूरी तरह तैयार है। पहले सत्र की पढाई के लिए सभी तैयारियां पूर्ण है। एनएमसी से एप्रुवल प्राप्त होते ही प्रधानमंत्री द्वारा प्रदेश के 9 मेडिकल कालेज का शुभारम्भ कार्य सम्पन्न होगा, जो प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के अन्तर्गत व राज्य सरकार के स्वयं के संसाधनों से मेडिकल कालेज में शिक्षण कार्य प्रारम्भ होगा। इसके पहले कोई मेडिकल कालेज की कल्पना भी नही करता था। हम सब आभारी है प्रधानमंत्री का, टंजो बेतहतरीन स्वास्थ्य सुविधा के लिए नया अभियान चलाया। उत्तर प्रदेश में आजादी के 70 वर्षो तक कुल 12 मेडिकल कालेज बने थे। वर्तमान में उत्तर प्रदेश सरकार व भारत सरकार द्वारा अपने संसाधनो से 32 मेडिकल कालेज स्थापित हो चुके है। स्वास्थ्य सुविधायें भी आम जन को उपलब्ध हो रही है। वर्ष 2021-22 में 14 नये मेडिकल कालेज बनाए जायेगें, इसके लिए बजट का प्राविधान भी कर लिया गया है। 16 जनपदों में जहां मेडिकल कालेज नही है, उनमें भी पीपी मोड में एक नई कार्य योजना बनायी जा रही है और अगले 6 माहो में मेडिकल कालेज स्थापित करने की कार्य योजना बनायी जा रही है। प्रदेश के सभी 75 जनपद मेडिकल कालेज से आच्छादित किए जायेगें। विगत वर्षो मे 2 एम्स गोरखपुर व रायबरेली में भी शुरुआत हो चुकी है। गोरखपुर एम्स का शुभारम्भ अक्टूबर माह में प्रधानमंत्री जी द्वारा किया जाना प्रस्तावित है। एम्स चिकित्सा सेवा की विश्वसनीय संस्थान है। इससे पूर्वी उत्तर प्रदेश के लोगो को बेहतर स्वास्थ्य सुविधायें मिलेगी। देवरिया एवं सिद्धार्थनगर में शीघ्र ही मेडिकल कालेज में पढाई शुरु होगी। बस्ती में गत सत्र से पढाई प्रारम्भ है। कुशीनगर में वर्ष 2021-22 में मेडिकल कालेज स्वीकृत व इसके लिए धन आवंटन किया गया है। बलरामपुर, गोंडा, बहराइच, जौनपुर, गाजीपुर, चन्दौली आदि जनपदों में नये मेडिकल कालेज की श्रृंखला खडी की गयी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह मेडिकल कालेज लगभग 208 करोड़ की लागत से निर्मित होनी है, जिसके सापेक्ष 155 करोड़ व्यय हो चुका है। पूर्ण रुप से सभी कार्य 15 दिसम्बर तक पूर्ण कर लिये जायेगें। मेडिकल कालेज में इन्फ्रास्टक्चर, स्पोर्टिंग स्टाफ आदि की पर्याप्त संख्या है। उन्होने कहा कि इस सदी के सबसे बडी महामारी कोरोना काल में सबसे बडी आबादी वाले इस प्रदेश में उसे काफी हद तक नियंत्रित करने में सफलता मिली, जबकि दुनिया के विकसित देश कोविड से त्रस्त रहे। स्वास्थ्य इन्फ्रास्ट्रक्चर का कोविड को नियंत्रित करने में बहुत बडी भूमिका रही है। कोविड वैरियर्स, प्रशासनिक अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों के समन्वय से इस अभियान को और बल मिला। जेईव एईएस से पूर्वान्चल का क्षेत्र सर्वाधिक प्रभावित रहता था, आज पूरी तरह से नियंत्रित है। महर्षि देवरहा बाबा मेडिकल कालेज के स्थापित होने से महामारियों को रोकने में बड़ी उपयोगिता होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज इस मेडिकल कालेज के निर्माण कार्यो का निरीक्षण किया गया। निर्माण कार्य काफी सन्तोषजनक स्थिति में है। पूर्वी उत्तर प्रदेश के बच्चों एवं जनता के लिए यह समर्पित है। सत्र प्रारम्भ के लिए सभी औपचारिकतायें पूरी हो चुकी है तथा यह निर्देश दिया गया है कि कोई कमी नही रहनी चाहिए। उन्होने कहा कि कोविड काल में निर्माण कार्य को पूर्ण किया जाना यह एक उपलब्धि होगी। इस दौरान कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही, पशुधन राज्यमंत्री जय प्रकाश निषाद, उद्यान राज्यमंत्री(स्वतंत्र प्रभार) एवं जनपद के प्रभारी मंत्री श्रीराम चौहान, गन्ना विकास उपाध्यक्ष नीरज शाही, सदर सांसद डा रमापति राम त्रिपाठी, सलेमपुर सांसद रविन्दर कुशवाहा, सदर विधायक डा सत्य प्रकाश मणि त्रिपाठी, विधायक सलेमपुर काली प्रसाद, रामपुर कारखाना विधायक प्रतिनिधि डा संजीव शुक्ला, मण्डलायुक्त रवि कुमार एनजी, जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन, पुलिस अधीक्षक डा श्रीपति मिश्र, मुख्य विकास अधिकारी शिव शरणप्पा जी एन, ज्वाईन्ट मजिस्ट्रेट गुंजन द्विवेदी, एडीएम प्रशासन कुवर पंकज, प्राचार्य मेडिकल कालेज डा एएम वर्मा, सीएमओ डा आलोक पाण्डेय सहित उप जिलाधिकारी गण स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सक, कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारी गण आदि उपस्थित रहे।