राइस मिलर्स वेलफेयर एसोसिएशन की बैठक हुई संपन्न
* कृपाशंकर यादव
गाजीपुर । धान की कुटाई से पहले यूपी के गाजीपुर में राइस मिलर्स एसोसिएशन की बैठक हुई। 13 जुलाई को प्रदेश अध्यक्ष उमेशचन्द्र मिश्रा की अगुवाई में हुई राइस मिलरों की इस बैठक में कस्टम धान से चावल की रिकवरी को 58-60 प्रतिशत करने, कुटाई के रेट को बढ़ाकर 250 रुपये कुन्तल करने की मांग की गई। इसके साथ ही धान परिवहन और सीएमआर परिवहन टेण्डर द्वारा निर्धारित दर पर करने समेत कई अहम मांगो को मिलरों ने सरकार के सामने रखा। प्रदेशभर से जुटे मिलरों ने धान की कुटाई से होने वाली समस्त भुगतानों को तय समय सीमा में भी करने की मांग की। बैठक में अपनी मांग को ज़ोरदार तरीक़े से उठाते हुए मिलरों ने सरकार को आगाह किया कि अगर उनकी मांगें नही मानी गई तो मिलर्स ना तो अपनी मिलों का सत्यापन करायेंगे और ना ही इस साल धान की कुटाई करेंगे। मिलरों की इस मांग के बाद अब किसानों की नजर सरकार पर टिक गई है क्योंकि धान की बुवाई का काम शुरु हो गया है। ऐसे में अगर उनके धान की ख़रीद नहीं हुई तो लॉकडाउन में कहीं उनकी कमर और ना टूट जाए। मिलरों की इस मांग के बाद अब किसानों की नजर सरकार पर टिक गई है क्योंकि धान की बुवाई का काम शुरु हो गया है। ऐसे में अगर उनके धान की ख़रीद नहीं हुई तो लॉकडाउन में कहीं उनकी कमर और ना टूट जाए। इस मौके पर जिला अध्यक्ष अजीत राय उपाध्यक्ष, महामंत्री राम जन्म कोषाध्यक्ष अकबर अली संरक्षक अभय यादव आदि लोग शामिल थे ।