*टूट गया 2019 बाढ़ का रिकॉर्ड,गाजीपुर मे गंगा खतरे के निशान से ऊपर बह रही है
कृपाशंकर यादव
गंगा का जलस्तर लगातार बढ़ता जा रहा है। बीती रात गंगा की लहरों ने वर्ष 2019 का 64.530 का रिकार्ड तोड़ दिया। गंगा का जलस्तर एक घंटे प्रति सेमी के हिसाब से बढ़ रहा है। सुबह गंगा का जलस्तर 64.580 मीटर रिकार्ड किया गया। माना जा रहा है कि बढ़ोतरी ऐसे ही जारी रही तो 1978 का रिकॉर्ड भी बहुत जल्द टूट जाएगा। नगर के नवापूरा स्थित शिर्डी बाबा के मंदिर में पानी घुस चुका है। वहीं ददरीघाट, पोस्ताघाट के मंदिर में पानी घुस चुका है। डीएम आवास परिसर के खेतों में भी पानी आ चुका है। गंगा अपने पूरे उफान पर है।गंगा के जलस्तर में लगातार एक सेंटीमीटर प्रति घण्टा के रफ्तार से बढ़ोत्तरी हो रही है,और ग़ाज़ीपुर में गंगा खतरे के निशान को पार कर गयी हैं।गंगा में आई बाढ़ से तटवर्त्ती इलाके बाढ़ के पानी से घिर गये है। जिले के निचले इलाकों में बाढ़ का पानी घुस गया है।इतना ही नही कई गांवों में सम्पर्क मार्ग बाढ़ के पानी मे डूब गये हैं।गंगा में आई बाढ़ से तटवर्ती इलाकों में लोगों की मुसीबतें बढ़ती जा रही हैं।ऐसे में बाढ़ के चलते लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।किसानों की फसल बाढ़ के पानी मे डूबी नजर आ रही।लोगों को आवागमन में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा।जबकि लोगों के सामने मवेशियों के चारे के संकट भी खड़ा हो गया है।