75 प्रगतिशील कृषक कृषि मंत्री श्री शाही के हाथो हुए सम्मानित
कमलाकर मिश्न की रिपोर्ट देवरिया-आजादी के 75 वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर अमृत महोत्सव कार्यक्रम के अन्तर्गत टाउनहाल आडिटोरियम में किसान सम्मान समारोह आयोजित हुआ, जिसके मुख्य अतिथि कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही एवं बतौर विशिष्ट अतिथि सदर सांसद डा रमापति राम त्रिपाठी सिरकत किए तथा इस कार्यक्रम की अध्यक्षता जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन द्वारा किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि सहित सभी अतिथियों द्वारा दीप प्रज्जवलन के साथ किया गया। इस अवसर पर कृषि एवं इससे जुडे विविध आयामो में उत्कृष्ट कार्य करने वाले लगभग 75 कृषकों को शाल ओढा कर माल्यार्पित कर प्रमाण पत्र प्रदान करने के साथ उन्हे मुख्य अतिथि कृषि मंत्री सहित अन्य अतिथियो द्वारा सम्मानित किया गया। कृषि मंत्री श्री शाही ने उपस्थित सभी जनो को 75 वीं वर्षगाठ की हार्दिक शुभाकामनाएं व बधाई दिए। उन्होने कहा कि 75 वीं वर्षगाठ के इस पावन अवसर पर प्रदेश के सभी जनपदों में 75-75 कृषकों को सम्मानित करने का कार्य आज किया जा रहा है। किसी भी देश के आजादी का 75 वर्ष पूर्ण होना परिपक्वता का परिचायक है। उन्होने कहा कि देश की दिशा व दशा बदले, इसके लिए प्रधानमंत्री जी प्रयत्नशील है। किसानो के आमदनी 2022 तक दोगुना हो, इसके लिए संकल्पित रुप से कार्य किया जा रहा है। कृषि निवेशों को कृषकों तक समय से पहॅुचाने का कार्य किया जा रहा है। उन्नत खेती से ही किसान समृद्ध होगा। उन्होने कृषको से उन्नतशील, समेकित खेती किए जाने आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि केवल धान, गेहूॅ परम्परागत खेती न करें, बल्कि देश की आवश्यकतानुरुप खेती करें। जैविक खेती को अपनाए व नवीनतम तकनीकी को भी अपनी खेती में शामिल कर अपनी आय को बढाएं। कृषि मंत्री ने कहा कि कृषक यह जांच लें कि खेतों को किन पोषक तत्वों की कमी है इसके लिए अपने खेतों की मिट्टी की जांच करायें। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में ऋणी एवं गैर ऋणी कृषक जिनकी फसल नष्ट हो जाती है उन्हें क्षतिपूर्ति भी दी जाती है। पहले की अपेक्षा उत्तर प्रदेश में उत्पादन दर में बढ़ोत्तरी हुई है। कृषि यंत्रों पर अनुदान दिए जाने की व्यवस्था है। फार्म मशीनरी बैंक की स्थापना में 80 प्रतिशत का कृषि यंत्र पर अनुदान दिया जा रहा है तथा कस्टम हायरिंग सेन्टर की स्थापना की माध्यम से अनुदान कृषि यंत्र दिया जा रहा है। उन्होने कहा कि कृषको को अपने खेती के तौर तरीकों को बदलना होगा और कृषि की नई-नई तकनीकी विधियों को अपना कर खेती को करेंगे तभी अपनी आय को बढ़ा सकेगें। पीएम किसान सम्मान योजना के तहत उन्होने बताया कि इस जनपद में 459482 कृषकों को अब तक कुल 704 करोड़ रूपये की धनराशि दिया जा चुका है। सदर सांसद डा रमापति राम त्रिपाठी ने सम्बोधन में कहा कि यह देश कृषि प्रधान देश है। अधिकांशतः लोगो की कृषि पर आधारित जीविका होती है। उन्होने कहा कि कृषकों को समृद्धशाली बनाए जाने के लिए विभिन्न माध्यमो से प्रोत्साहित करने का कार्य किया गया है। जरुरत है कि कृषक तकनीकी रुप से जुडे और अपना आर्थिक उन्नयन करें। उन्होने अधिकारियों से कहा कि सरकार की योजनायें लोगो तक पहुॅचें यह सुनिश्चित किया जाए। गन्ना विकास उपाध्यक्ष नीरज शाही ने कहा कि कृषक समृद्धशाली हो इसके लिए कार्य किया जा रहा है। सदर विधायक डा सत्य प्रकाश मणि त्रिपाठी ने कहा कि परम्परागत खेती के अतिरिक्त आर्थिक उन्नयन के लिए नवीनतम तकनीकों का प्रयोग अपनी खेती में कृषक सम्मिलित करें और अपनी व आय बढाने की दिशा में कार्य करें। भाजपा जिलाध्यक्ष अन्तर्यामी सिंह ने कृषकों की एक कार्यशाला आयोजित कराए जाने की अपेक्षा उप निदेशक कृषि डा आशुतोष कुमार मिश्र से किया। जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने कहा कि प्रगतिशील किसान गांवों में अपनी अग्रणी भूमिका निभाएं। अन्य कृषकों को नवीनतम तकनीकों की जानकारी दें तथा उन्हे उन्नतशील तरीकों को अपनाए जाने के लिए उन्हे भी प्रेरित करते रहें। उन्होने कहा कि जनपद में कृषि की तमाम योजनाए संचालित है। कृषि निवेशों की कोई कमी नही है। बैकों के माध्यम से भी यह प्रयास है कि कृषि ऋण समय से पारदर्शी तरीके से कृषकों को मिले। उन्होने यह भी बताया कि जनपद के पंजीकृत किसानो में लगभग 88 प्रतिशत से अधिक किसान प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना से आच्छादित है। उन्होने कृषकों से नई तकनीको को अपनाये जाने व कृषि उपज को बढाने के साथ ही अपनी आय बढाने की अपेक्षा किए। उन्होने स्वतंत्रता दिवस की बधाई देते हुए आजादी के अक्षुण्ण रखने में सभी को अपना योगदान देने की अपेक्षा की। उप निदेशक कृषि डा आशुतोष मिश्र द्वारा जनपद में कृषि विभाग की संचालित विभिन्न योजनाओं उपलब्धियों का विस्तृत रुप रेखा प्रस्तुत किया व सभी अतिथियों के प्रति आभार व्यक्त किए। खेती की जानकारी देते हुए बताया कि केवल धान एवं गेंहू की खेती न करें बल्कि इसके साथ-साथ दलहनी, तिलहनी फसलों की खेती भी करें तभी अपनी आय में वृद्धि कर सकते हैं।’संचालन कृषि वैज्ञानिक सन्तोष चतुर्वेदी द्वारा किया गया। इस मौके पर विभिन्न विभागों द्वारा लगाए गए स्टालों का अवलोकन कृषि मंत्री सहित सभी अतिथियों द्वारा किया गया। इस अवसर पर प्रगतिशील कृषक वेद व्यास सिंह, रमेश सिंह, गोविन्द पाण्डेय, सावित्री राय आदि के द्वारा भी अपनी अनुभव को साझा किया गया। इसके पूर्व तकनीकी सत्र में कृषि वैज्ञानिक कृषि विज्ञान केन्द्र डा रजनीश श्रीवास्तव इफ्को प्रबंधक विनोद कुमार सिंह ने उर्वरक प्रयोग से लेकर नवीनतम तकनीकों की जानकारी दिए तथा उसका प्रयोग अपने खेती में किए जाने हेतु कृषको से अपेक्षा किए। सम्मानित हुए प्रगतिशील कृषकः- कृषि मंत्री श्री शाही द्वारा इस अवसर पर विभिन्न आयामो में उत्कृष्ट कार्य करने वाले कृषकों को सम्मानित किया गया, जिसमें दहारी शर्मा सुपर सीडर से धान की बोआई, रविन्द्र किशोर राय बागवानी, ध्रुप सिंह डेयरी फार्म, सुबाष कुशवाहा सब्जी की खेती, शम्भू नाथ सिंह को गन्ना की खेती के लिए, प्रतिशील कृषक बिजुली सिंह, मनोज यादव, रणधीर सिंह, मनोज कुशवाहा, दुष्यन्त राय, रामप्रवेश यादव, महातम प्रजापति, ललन राव, शैलेश्वर पटेल, मनोज राय, तारा मल्ल, गजाधर मणि, विरेन्दर पाण्डेय एवं महिला कृषक स्वयं सहायता समूह आत्मा के अन्तर्गत कुमकुम देवी, गुड्डी देवी, शीला देवी, मीना देवी, रमावती देवी, अन्जू देवी, बदामी देवी, जिलेबा देवी, शकुन्तला देवी, कमलेश, माधुरी देवी आदि सम्मानितों में सम्मिलित है। प्रगतिशील मत्स्य पालकों में गंगा शरण श्रीवास्तव, शिव प्रसाद, संजीव राव, रासिद खान, उदयभान मिश्र, संजीत कुमार राय, पशुपालको में मो0 काजीम राजा खान, विनय मणि, मुन्ना सिंह, संजीव कुमार सिंह, राहुल कुमार यादव, यदूपति यादव, जुगूल किशार सिंह, मनोज भारती, औद्यानिक क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाले प्रगतिशील कृषकों यथा- सुरेन्द्र चौहान, अर्जुन कुशवाहा, हसनैन, विनोद मिश्रा, सम्पूर्णानंद मल्ल, दयानंद, अनिल सिंह, दिनेश मौर्या, विरेन्द्र यादव एवं विजय प्रताप सिंह, सहित अन्य विविध क्षेत्रों में उत्कृष्ठ कार्य करने वाले प्रगतिशील कृषकों को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर प्रभारी सीडीओ श्रवण कुमार राय, अपर जिलाधिकारी प्रशासन कुवर पंकज, ब्लाक प्रमुख पथरदेवा सुब्रत शाही, एमएलसी प्रतिनिधि राजू मणि, मुरारी मोहन शाही, जितेन्द्र कुमार राव, मारकण्डेय तिवारी, ब्लाक प्रमुख रुद्रपुर उषा पासवान, तरकुलवा राम आशीष गुप्ता, सदर पिन्टू जायसवाल, प्रवीण निखर, जिला कृषि अधिकारी मो0मुजम्मिल, डीएचओ सीताराम यादव, सीवीओ पीएन सिंह सहित अन्य जुडे विभागो के अधिकारी, कर्मचारी, प्रगतिशील कृषक आदि उपस्थित रहे।