गाजीपुर-जैसेतैसे बची जान,हुआ कई लाख का नुकसान
सुभाष सिंह की रिपोर्ट
गाजीपुर-मरदह थानाक्षेत्र के हैदरगंज चट्टी पर स्थित एक जनरल स्टोर मे विद्युत की शार्ट सर्किट से भयंकर आग लग गयी।सूचना पर पहुँची गाजीपुर फायर ब्रिगेड की टीम देर रात 12 बजे पहुँची तथा मोहम्मदाबाद की टीम 12:30 बजे पहुंचने के बाद पानी का छिड़काव करके सुलगते हुए आग को काबू मे किया।मौके पर पहुचे क्षेत्रीय लेखपाल रामनगीना पाल ने आगजनी में हुए नुकसान का आकलन कर रिपोर्ट तहसील मुख्यालय को प्रेषित किया। मालूम हो हैदरगंज गांव निवासी जनार्दन कुशवाहा का हैदरगंज – देऊपुर गांव मार्ग के मोड़ पर तीन मंजिला मकान स्थित है।जहां पर मंगलवार की देर रात लगभग 10:30 बजे के करीब बिजली के शार्ट सर्किट के चिंगारी से आग लग गयी और मकान से तेज धुआंं व आग की लपटे बाहर निकल रही थी।इसी दौरान क्षेत्र के महिपालपुर गांव के कुछ युवक जो टेट की परीक्षा देकर वाराणसी से बस द्वारा हैदरगंज चट्टी जब उतरे जब वह अपने घर के लिए इसी रास्ते पर निकले तो नजारा देख आवाक हो गये।अगल बगल के लोगो को नींद से जगाने के बाद गांव के लोगों को खबर दी जिसके बाद सैकड़ों लोग इकट्ठा हो गए, परन्तु आग की लपटे इतनी तेज थी कि सब विवश थे। जनार्दन कुशवाहा के बेटे सुरेंद्र कुशवाहा जो मकान में किराना मर्चेट,जनरल स्टोर व पत्नी को कास्मेटिक श्रृंगार की दुकान करा रखें थे।रोज की तरह वो अपने पत्नी,व दो बच्चों के साथ खाना खाने के बाद मंगलवार की रात को इसी मकान के दूसरे तल पर सो गए।देर जब उन्हें आभास हुआ कि कोई हमें बुला रहा है तब वह अपने दूसरे मंजिल से नीचे देखें तो लोग शोर मचा रहे हैं और आग बिकराल रूप धारण कर चुकी है,यह सब नजारा देख उनके रोंगटे खड़े हों गये।मकान से बाहर निकलने का कोई दूसरा रास्ता नहीं होने के कारण वह पूरी तरह आग से घिर गये थे। लेकिन ग्रामीणों व खुद के सूझबूझ से साड़ी का रस्सी बनाकर मकान के रेलिंग के सहारे आयुष कुशवाहा 4 वर्ष,शिवन्या कुशवाहा 1 वर्ष, व प्रतिमा कुशवाहा 25 वर्ष,सुरेन्द्र कुशवाहा 30 वर्ष को बास की सीढ़ी के द्वारा दूसरे मंजिल से बाहर आएं तथा जनार्दन कुुशवाहा जो नीचे बालकनी में सोए हुए थे शोर गुल सुनकर बाहर निकले तब जाकर सभी ने राहत भरी सांस ली। आग की लौ इतनी भयानक थी कि उसकी चपेट में पूरे दुकान समान जहाँ जलकर खाक हो गया,वहीं दीवारें व छत्त पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया।घर में लगे खिड़की,दरवाजे, रोजमर्रा के समान पूरी तरह से जल स्वाहा हो गया।इस आगजनी की घटना में 30 लाख की लागत से बने मकान, 1 लाख रुपये नगद, 7 लाख रुपये का किराना मर्चेट की दुकान का समान, व 2 लाख रुपये के कॉस्मेटिक व श्रृंगार के समान सहित करीब 1 लाख रुपये के घर गृहस्थी के समान जलकर राख हो गये।इस घटना में गांव के रामविलास कुशवाहा,संतोष,उपेन्द्र,अरविंद,रजनीश, गुड्डू अहमद,मिठ्ठू गोड़,आशीष,अच्छेलाल,शोभा राजभर, अनिल गोड़ ने सराहनीय साहस का परिचय देते हुए अपने जान की बाजी लगाकर सभी परिजनों को सकुशल मकान से बाहर निकाला इनके इस साहसीकार्य की लोग सराहना करते रहें हैं