अपराध गोष्ठी की समीक्षा में एसपी ने थाना प्रभारियों के कसे पेंच
कमलाकर मिश्न की रिपोर्ट
पुलिस अधीक्षक देवरिया डा0 श्रीपति मिश्र द्वारा पुलिस लाइन में अपराध गोष्ठी का आयोजन किया गया, गोष्ठी के प्रारम्भ होने से पूर्व जनपद से आये पुलिस कर्मियों का सम्मेलन किया गया, जिसमें पूर्व में कर्मचारियों द्वारा उठायी गयी समस्याओं के निराकरण की जानकारी ली गयी तो पाया गया कि पूर्व में प्राप्त समस्त मामलों का निराकरण कर लिया गया है। सम्मेलन के दौरान कतिपय कर्मियों द्वारा समस्यायें बतायी गयीं, जिसमें त्वरित कार्यवाही करते हुए निस्तारण हेतु सम्बन्धित को निर्देशित किया गया। तत्पश्चात अपराध गोष्ठी का आयोजन किया गया, जनपद में शांति एवं कानून व्यवस्था हेतु अपराध समीक्षा की गयी, जिसमें सर्वप्रथम अवैध कच्ची शराब के निर्माण, भंडारण, परिवहन, बिक्री पर प्रभावी नियंत्रण लगाने, चोरी व लूट की घटनाओं की रोकथाम हेतु रात्रि गस्त व क्षेत्र में भ्रमण करने, लंबित जनशिकायत एवं आईजीआरएस प्रार्थना पत्रों की गुणवत्तापूर्ण एवं समयबद्ध निस्तारण करने के कड़े निर्देश दिए गये। बीट पुलिस ऑफिसर प्रणाली को प्रभावी बनाने तथा सुचारु रुप से बीट पुलिस अधिकरियों को कार्य करने हेतु निर्देश दिए गए। मिशन शक्ति फेज-3 को और प्रभावी बनाने हेतु जनपद के समस्त थाना क्षेत्रान्तर्गत महिलाओं की समय-समय पर बैठक करने व उन्हें जागरुक करने हेतु निर्देश दिए गए। साइबर सुरक्षा जागरुकता अभियान हेतु निर्देश दिए गए। बैंकों पर विशेष सतर्कता बरतने, संदिग्ध व्यक्तियों व वाहनों की सघन चेकिंग करने तथा प्रतिदिन बैंक ड्यूटी में जाने वाले कर्मचारियों को ड्यूटी के सम्बन्ध में ब्रीफ करने एवं सभी पुलिसकर्मियों को ड्यूटी के दौरान दृश्यता, गतिशीलता, सजगता एवं सतर्कता बनाये रखने हेतु विशेष निर्देश दिये गये तथा ऑपरेशन तमंचा में प्रभावी कार्यवाही किये जाने के संबन्ध में निर्देश दिये गये। साम्प्रदायिक भावना भड़काने वालों व असामाजिक तत्वों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही करने व छोटी से छोटी बातों का संज्ञान लेने, सोशल मीडिया पर निगरानी रखने के साथ साथ डिजिटल वालेंटियर ग्रुप को अपडेट कर उनके साथ नियमित मीटिंग कर उनका सहयोग लेने एवं सी-प्लान एप थाना प्रभारी व समस्त पुलिस कर्मियों द्वारा डाउनलोड करते हुए उसके माध्यम से अपने अपने क्षेत्र में पड़ने वाले गांवों के संभ्रान्त व्यक्तियों से वार्ता किये जाने का निर्देश दिया गया। लंबित विवेचनाओं के निस्तारण, वांछित अभियुक्तों, इनामिया, जिलाबदर, एनबीडब्ल्यू के विरूद्ध अभियान चलाकर गिरफ्तारी करने व शातिर अपराधियों के विरुद्ध गुण्डा, गैगेस्टर आदि की कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये। सड़क दुर्घटनाओं को रोकने, यातायात व्यवस्था को दुरुस्त करने व अतिक्रमण हटवाने के सम्बन्ध में समस्त थाना प्रभारी सहित यातायात प्रभारी को निर्देशित किया गया। बालिकाओं एवं महिलाओं के विरूद्ध होने वाले अपराधों पर प्रभावी कार्यवाही करने, एंटी रोमियो टीम द्वारा अभियान को निरंतर जारी रखने, वाहन चेकिंग के दौरान आम जनता से अच्छा बर्ताव करने हेतु निर्देशित किया साथ ही साथ आम जनमानस में सुरक्षा की भावना को बढ़ाने हेतु पैदल गश्त को और अधिक प्रभावी बनाए जाने पर जोर दिया गया। भूमि विवाद से सम्बन्धित प्रकरणों में प्राप्त प्रार्थना-पत्रों में राजस्व टीम के साथ समन्वय स्थापित कर मौके पर जाकर निष्पक्ष जांच कर निस्तारण करायें। थानों पर लंबित मालमुकदमातो वाहनों व मालों के निस्तारण हेतु सभी थाना प्रभारियों को निर्देशित किया गया। इस अवसर पर जनपद के अपर पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सोनकर, मुख्य अग्निशमन अधिकारी शंकर शरण राय, क्षेत्राधिकारी नगर श्रीयश त्रिपाठी, क्षेत्राधिकारी सलेमपुर कपिलमुनी सिंह, क्षेत्राधिकारी रुद्रपुर अम्बिका, क्षेत्राधिकारी भाटपार रानी पंचमलाल, क्षेत्राधिकारी बरहज देवानन्द, समस्त थाना प्रभारी, निरीक्षक एलआईयू, प्रतिसार निरीक्षक, आशुलिपिक पुलिस अधीक्षक, वाचक पुलिस अधीक्षक, प्रधान लिपिक, प्रभारी कोरोना सेल, प्रभारी डायल 112, प्रभारी परिवहन शाखा, प्रभारी सम्मन सेल आदि उपस्थित रहे।