श्रद्धालुओं व पर्यटकों को वैश्विक मानकों के अनुरूप सुविधाएं प्रदान करना हमारी प्राथमिकता-सांसद लल्लू सिंह
अमित सिंह की रिपोर्ट ==============
=================== अयोध्या शहर की यातायात को बेहतर बनाने के लिए क्रॉसिंग पर बनने वाले छह रेलवे ओवर ब्रिज पर अपनी सहभागिता के लिए रेलवे ने मंजूरी प्रदान कर दी है|रेलवे ओवरब्रिज का जल्द निर्माण प्रारंभ करने के लिए सांसद लल्लू सिंह लगातार प्रयासरत थे| शहर में एक और रेलवे ओवर ब्रिज को जल्द स्वीकृत मिलने की उम्मीद है|वर्ष के अंत तक सातों रेलवे ब्रिज का निर्माण कार्य प्रारंभ हो जाएगा| सांसद लल्लू सिंह ने बताया की इन रेलवे ओवर ब्रिज के निर्माण में 533 करोड़ 89 लाख 87 हजार का खर्च आएगा| जिसमें 160 करोड़ 84 लाख रेलवे तथा 273 करोड़ 500000 87 हजार सेतु निगम उत्तर प्रदेश द्वारा खर्च किया जाएगा|रेलवे ओवरब्रिज की स्वीकृति मिली है|उसमे 121 मोदहा, 111 टेढ़ी बाजार, 107 दर्शन नगर फोरलेन तथा 112 बड़ी बुआ, 108 दर्शन नगर परिक्रमा मार्ग, 105 सूरजकुंड टूलेन का निर्माण किया जाएगा|118 फतेहगंज रेलवे ब्रिज का निर्माण हेतु रेलवे विभाग से जल्द स्वीकृत मिल जाएगी| इसी वर्ष के अंत तक इनमें कार्य प्रारंभ हो जाएगा| उन्होंने बताया कि देश-विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की असुविधा ना हो|अयोध्या में भ्रमण करते हुए उनके समक्ष जाम की असुविधा ना आए|इसके लिए इन रेलवे ओवरब्रिज का निर्माण एक महत्वपूर्ण कड़ी साबित होगा|प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार अयोध्या के विकास के लिए प्रतिबद्ध है|उनकी परिकल्पना व सोच को जमीन पर उतारने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सतत प्रयासरत हैं| जिसका परिणाम अब दिखाई देने लगा है|अयोध्या में आने वाले श्रद्धालुओं व पर्यटकों को वैश्विक मानकों के रूप सुविधाएं प्रदान करना हमारी प्राथमिकता है|