डीएम ने की प्रोबेशन विभाग के कार्याे की समीक्षा
कमलाकर मिश्र की रिपोर्ट
देवरिया -जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने गूगल मीट के माध्यम से प्रोबेशन विभाग की योजनाओं एवं कार्य प्रगतियों यथा-उत्तर प्रदेश रानी लक्ष्मीबाई बाल सम्मान योजना, कन्या सुमंगला योजना, मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना, निराश्रित महिला पेंशन योजना, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, मिशन शक्ति आदि की गहन समीक्षा किए। इस दौरान उन्होने संचालित सभी योजनाओं में बेहतर कार्य प्रगति लाए जाने एवं जनपद को प्रदेश में विशिष्ट स्थान दिलाए जाने हेतु सभी से अन्तर्विभागीय समन्वय के साथ कार्य किए जाने को कहा। जिलाधिकारी श्री निरंजन ने कन्या सुमंगला योजना में और बेहतर प्रगति लाए जाने के लिए बीएसए सन्तोष राय से कहा कि अब विद्यालय खुलने की स्थिति में हैं, प्रयास करें कि इस योजना में अधिक से अधिक आवेदन लिए जाए और उनको इससे आच्छादित किए जाए। उन्होने जुडे अन्य विभागो को भी अपने स्तर से पूरी सक्रियता लाए जाने और अधिक से अधिक इस योजना के तहत आवेदन पत्र लेने तथा उन्हे इससे लाभान्वित किए जाने का निर्देश दिया। जिला प्रोबेशन अधिकारी संबंधित विभागो से इसके लिए समन्वय रखेगें। जिलाधिकारी ने मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना, निराश्रित महिला पेंशन के लम्बित आवेदनो का सत्यापन प्राथमिकता से किए जाने का भी निर्देश दिया। उन्होने महिला कल्याण से जुडे कार्यक्रमों, मिशन शक्ति आदि को भी प्रमुखता से संचालित किए जाने के निर्देश दिए। उन्होने गत बैठक में बन्दियों के सुविधा के लिए बाक्स लगाएं जाने के दिए गए निर्देश तथा प्राप्त आवेदनो पर कार्यवाहियों का फीडबैक जिला प्रोबशन अधिकारी से लिया और कहा कि इससे बन्दियों की समस्याओं के समाधान में पारदर्शी व एकरुपता विकसित होगी। इस लिए प्राप्त सभी आवेदन पत्रो पर तत्परता से कार्यवाही सुनिश्चित करायी जाए। जिला प्रोबेशन अधिकारी प्रभात कुमार द्वारा सभी कार्य योजनाओं की एजेन्डा बिन्दुओं की प्रगतियों को प्रस्तुत किया गया। बैठक में नवागत मुख्य विकास अधिकारी रविन्द्र कुमार, अपर जिलाधिकारी प्रशासन कुवर पंकज, क्षेत्राधिकारी सदर श्रीयश त्रिपाठी, बाल संरक्षण अधिकारी जे पी तिवारी, महिला कल्याण अधिकारी सहित अन्य संबंधित विभागो के अधिकारी आदि जुडे रहे।