डीएम ने किया विकास खंड बैतालपुर कार्यालय का निरीक्षण
कमलाकर मिश्र की रिपोर्ट
देवरिया-जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन विकास खंड बैतालपुर कार्यालय का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होने पूरे कार्यालय परिसर, कार्यालय पटल का निरीक्षण कर कार्य प्रगतियों को जाना एवं साफ सफाई की सुदृढ व्यवस्था के साथ ही अभिलेखों को सुव्यवस्थित ढंग से रखे जाने का निर्देश दिया। उन्होने कम प्रगति वाले कार्य बिन्दुओं से संबंधित अधिकारियों व कर्मचारियों को कड़ी फटकार लगायी और कार्यो में सुधार लाए जाने हेतु सचेत किया। इस दौरान उन्होने पंचायत भवन के निर्माण में शिथिलता बरतने वाले 4 पंचायत सचिवों का वेतन रोकने का निर्देश दिया, वही प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण में भी कम प्रगति वाले 3 पंचायत सचिवो के विरुद्ध आरोप पत्र निर्गत किए जाने का भी निर्देश दिया। अन्य पंचायत सचिवों को आगाह करते हुए कहा कि वे कार्यो में तेजी लाए, अन्यथा जिस स्तर पर शिथिलता पायी जायेगी, उनके विरुद्ध कठोरतम कार्यवाही की जायेगी। निरीक्षण के दौरान पंचायत भवन की प्रगति अत्यन्त खराब पायी गयी। 49 लक्ष्य के सापेक्ष केवल 05 पूर्ण होने तथा 14 ग्राम पंचायतों में अभी तक भूमि चिन्हित न होने के सम्बन्ध में ए०डी०ओ० (पं०) बैतालपुर दशरथ सिंह द्वारा समुचित उत्तर न देने पर जिलाधिकारी ने फटकार लगायी तथा जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिया कि उनके विरुद्ध आरोप-पत्र निर्गत करने की कार्यवाही करें तथा हर हाल में 07 सितम्बर तक लक्ष्य के सापेक्ष अपेक्षित प्रगति सुनिश्चित किए जाने के कडे़ निर्देश दिए। इसी प्रकार सामुदायिक शौचालय निर्माण में भी कम प्रगति पायी गयी, जिस पर असन्तोष जताया गया। यह भी पाया गया कि 7 सामुदायिक शौचालय पूर्ण होने के बावजूद भी स्वयं सहायता समूहों को हस्तगत नही किया गया है, इसके लिए भी जिलाधिकारी ने सहायक विकास अधिकारी (आई०एस०बी०) के0के0 राय का भी वेतन अवरुद्ध किये जाने का भी निर्देश दिए। उन्होने राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन में भी खराब प्रगति के लिए बी०एम०एम० एवं ए०डी०ओ० (आई०एस०बी०) का वेतन रोकने के निर्देश दिए। प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के अन्तर्गत सबसे खराब प्रगति वाले पंचायत सचिव राकेश सिंह, विजय गौतम एवं सत्येन्द्र यादव ग्रा० वि0अधि0 के विरुद्ध आरोप पत्र निर्गत किये जाने के निर्देश जिलाधिकारी ने दिया। विकास खण्ड में 14 सोलर पम्प लगाये जाने के लक्ष्य के सापेक्ष 10 सोलर पम्प लगाया गया, जिस पर जिलाधिकारी ने सहायक विकास अधिकारी (कृषि) को निर्देशित किया कि शेष 04 सोलर पम्प 30 अगस्त तक स्थापित कराना सुनिश्चित करें। क्षेत्र पंचायत मद में लगभग 1.5 करोड़ रू० अवशेष है जिन्हें कार्ययोजना के अनुसार टेण्डर की प्रक्रिया पूर्ण कराते हुए नियमानुसार कार्य करा कर व्यय किये जाने के निर्देश किया गया। मनरेगा अन्तर्गत विकास खण्ड के सभी विद्यालयों में पोषण वाटिका बनाये के निर्देश दिये गये। पंचायत भवन निर्माण में शिथिलता पाए जाने पर 4 पंचायत सचिव जिनका वेतन रोका गया उनमें सत्येन्द्र यादव, विजय गौतम, रत्नेश द्विवेदी एवं राकेश सिंह सम्मिलित हैं। जिलाधिकारी ने कहा कि विकास खंडो के निरीक्षण आगे भी जारी रहेगा, जहां कही कोई कमी मिलेगी, उन्हे बख्शा नही जायेगा, उनके विरुद्ध कठोरतम कार्यवाही की जायेगी। निरीक्षण के समय जिला विकास अधिकारी व प्रभारी बीडीओ श्रवण कुमार राय सहित विकास खंड कार्यालय के अन्य संबंधित कर्मी गण आदि उपस्थित रहे।