प्रदर्शन कर रहे कांग्रेसियों को पुलिस ने रोका*
कृपाशंकर यादव
गाजीपुर । अगस्त क्रांति 1942 की तर्ज़ पर सड़क पर प्रदर्शन कर रहे कांग्रेसी कार्यकर्ताओ को स्थानीय पुलिस ने खदेड़ दिया है। आज मंगलवार को दिन में कोतवाली क्षेत्र के लंका से कचहरी की तरफ जाने वाले मुख्य मार्ग पर कांग्रेस कार्यकर्ता प्रदेश सचिव राहुल राजभर और जिलाध्यक्ष सुनील राम की अगुवाई में झंडे और बैनर के साथ प्रदर्शन कर मार्च निकाल रहे थे कि स्थानीय पुलिस ने उन्हें रोक लिया और लंका मुख्य मार्ग से पीछे लौट जाने को कहा लेकिन प्रदर्शनरत कांग्रेसियों ने अपनी आवाज़ और मुखर कर दी और नारे बाजी करने लगे जिसके बाद पुलिस से धक्कामुक्की और झड़प शुरू हो गयी और देखते ही देखते भारी संख्या में आई महिला और पुरुष पुलिस कर्मियों ने कोंग्रेसियों को जबरदस्ती वापस भेज दिया। सड़क पर बढ़ती भीड़ और प्रदर्शनकारियों की संख्या देखकर पुलिस ने धारा 144 और कोविड प्रोटोकाल का हवाला नेताओ से डॉय लेकिन नहीं मानने पर पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर कांग्रेसी नेताओं को खदेड़ दिया, जिसकी तस्वीरे कैमरे में कैद हो गयी । इस अवसर पर प्रदेश सचिव राहुल राजभर और जिलाध्यक्ष कांग्रेस सुनील राम ने पुलिस के इस कृत्य की भर्त्सना करते हुए कहा कि हम लोग 1942 में महात्मा गांधी ने जो अगस्त क्रांति में अंग्रेजो भारत छोड़ो की तर्ज़ पर प्रदर्शन किया था, उसी तर्ज पर महंगाई, बेरोजगारी, व्याप्त भ्रष्टाचार और बेलगाम अपराध के मुद्दे पर "भाजपा गद्दी छोड़ो" का नारा लगाकर जनजागरण करते रहेंगे और सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते रहेंगे, हमें पुलिस रोक नही सकती चाहे गोली ही क्यों न मार दे। इस मौके पर डॉ मार्कंडेय सिंह लाल साहब अनिल अमिताभ दुबे कुसुम तिवारी उषा चौबे अजय श्रीवास्तव सुनील साहू अवधेश गुप्ता संदीप कुमार आदि लोग शामिल थे ।