यूपी प्रेस क्लब में देर शाम तक बहती रही सरस काव्य फुहार
*रिपोर्ट - पी एन पाण्डेय लखनऊ*
*डा निधि सिंह को मिला अंतर्नाद सम्मान* लखनऊ - साहित्यिक संस्था कोशिश व चारु काव्यांगन के संयुक्त तत्वावधान में यूपी प्रेस क्लब में आयोजित कार्यक्रम में बैंगलुरू की युवा कवयित्री डा. निधि सिंह को अंतर्नाद सम्मान प्रदान किया गया। अपने काव्यपाठ के दौरान सम्मोहित करने वाले स्वर से निधि सिंह ने सब के मन को मोह लिया। सभागार में उपस्थित लोगों ने करतल ध्वनि से उनका हौसला बढ़ाया। समारोह की अध्यक्षता वरिष्ठ साहित्यकार डॉ अजय प्रसून ने किया। अतिथि के रूप में साहित्य भूषण कमलेश मौर्य मृदु व मुनेन्द्र शुक्ला रहे। प्रियंका राय की वाणी वंदना से कार्यक्रम का शुभारम्भ हुआ।निदेशक कोशिश, संस्थापक अंतर्नाद पुरुषार्थ सिंह ने बताया कि गत बीस वर्षों से नव लेखन को नव आयाम व प्रसिद्धि से दूर सिद्धों का ध्येय लिए शुचि साहित्य के विकास और विस्तार पर कार्य पूरे देश में किया जा रहा है। लखनऊ में अर्धवार्षिक आयोजन किया जाएगा। अपने लालित्यपूर्ण संचालन से रेनू द्विवेदी माहौल को उँचाई प्रदान किया। अनुज अब्र, देव प्रताप सिंह, ओज की कवयित्री प्रियंका राय, शिखा श्रीवास्तव, मंजुल मिश्र मंजर, डॉ हरि फैजाबादी, विनोद शंकर शुक्ल, योगी योगेश शुक्ल, निर्भय नारायण गुप्ता, दीप्ति दीप, सोहित अवस्थी, सर्वेश शर्मा, स्वाति मिश्रा, शीला वर्मा, प्रतिभा गुप्ता,उमेश प्रकाश उमेश, मनमोहन बाराकोटी, डॉ सुभाषचन्द्र रसिया, श्रीश चन्द्र दीक्षित, अमर श्रीवास्तव, राजीव वत्सल, गोबर गणेश, प्रशान्त शुक्ला, प्रिया सिंह, शिखा सिंह, सरोजबाला, राधा शुक्ला, आलोक रावत, अनमोल भास्कर, मृगांक, दिनेश सोनी, पवनेश दीक्षित, अनिल सिंह जायसवाल, अनिता सिन्हा, वर्षा श्रीवास्तव, अर्चना प्रकाश, विजय लक्ष्मी, सरिता कटियार, भारती पायल, महेश गुप्त आदि ने अपने काव्यपाठ से लोगों का मन बरबस मोह लिया। चारु काव्यांगन के महामंत्री मंजुल मिश्र मंजर ने सबका आभार व्यक्त किया।