महिलाओं के सहारे फर्जी मुकदमों में फसाते ये झोलाछाप डॉक्टर साहब, देवरिया सीएमओ मेहरबान
कमलाकर मिश्र की रिपोर्ट
देवरिया-शिकायतकर्ता पर गैंग रेप का फर्जी मुकदमा दर्ज कराना भारी पड़ा झोलाछाप डॉक्टरों को 307 के अपराधी झोलाछाप डॉक्टर पुलिस की सक्रियता के वजह से कामयाब नहीं हो सके। झोलाछाप डॉक्टर नदीम खान, स्टेशन रोड, इम्तियाज खान सिंधी मिल सलीम खान, उर्फ लंगड़ा विजय टॉकीज अमजद खान, भीखमपुर रोड एक्सिस बैंक एटीएम के बगल वाली गली में सीएमओ देवरिया द्वारा मुकदमा दर्ज होने के बाद भी इनकी क्लीनिक सुचारु रुप से संचालित हो रही है।झोलाछाप डॉक्टरों द्वारा शिकायतकर्ता को गोली मारने के बाद 307 के मामले में नदीम खान, झोलाछाप डॉक्टर 2 साल जिला कारागार देवरिया में बंद रहे लगभग छह माह बाद अमजद खान जिला कारागार देवरिया से छूटने के बाद काम करने वाली आशा देवी व वैशाली प्रजापति से फर्जी बलात्कार का मुकदमा, ताहिर खान वसीम खान,बीएस शर्मा और आसिफ खान पर दर्ज कराया जिसकी जांच सीओ रुद्रपुर ने बड़ी गहनता से की। जांच में यह पाया गया कि झोलाछाप डॉक्टरों के ऊपर 21 से अधिक आपराधिक मामले थाना कोतवाली देवरिया में दर्ज है और 307 के मामले में इन लोगों को सजा होने वाली थी। इससे नाराज होकर इन्होंने अपने यहां काम करने वाली दाईं से फर्जी मुकदमा दर्ज कराया, जो फर्जी पाया गया जिसको सीईओ रुद्रपुर द्वारा खारिज कर कोर्ट में कार्रवाई के लिए भेज दिया गया। जिसने फर्जी मुकदमा कायम कराया था उसके ऊपर 182 की कार्रवाई की गई।पुनः झोलाछाप डॉक्टर नदीम खान स्टेशन और अमजद खान विक्रमपुर रोड एक्स एक्सिस बैंक के बगल वाली गली इम्तियाज खान सिंधी में और सलीम गरूणपार फिर से पुनः फर्जी मुकदमा दर्ज कराने के प्रयास कर रहे हैं। इस विषय में अधिकारियों को सूचित कर दिया गया है।