चक्का जाम तोड़फोड़ के मामले में प्रधान प्रतिनिधि गिरफ्तार
कृपाशंकर यादव
गाजीपुर । सादात सेना के जवान का शव ले जाने के लिए सेना की गाड़ी नहीं आने पर सिधौना में सड़क जाम और तोड़फोड़ करने के मामले में नामजद वृंदावन के ग्राम प्रधान प्रतिनिधि रमेश यादव गुड्डू को खानपुर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। मामले की विवेचना कर रही मौधा चौकी पुलिस ने सोमवार को चालान कर कोर्ट में पेश किया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया। इस कार्रवाई से अन्य आरोपियों में हड़कंप मचा हुआ है। सादात क्षेत्र के वृंदावन गांव निवासी सेना का जवान अभिषेक यादव असम में ड्यूटी के दौरान पहाड़ी से वाहन पलटने के कारण बीते 29 मई को गम्भीर रूप से घायल हो गया था। असम के गुवाहाटी स्थित सेना के अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी एक जून को मौत हो गयी। कागजी प्रक्रिया पूर्ण करने के बाद उसके पिता रामजनम यादव और भाई हरिकेश यादव सेना के जवानों के साथ उसका शव लेकर ट्रेन से 03/04 जून की रात पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन (मुगलसराय) पहुंचे। यहां पहले से ही ग्राम प्रधान प्रतिनिधि रमेश यादव के नेतृत्व में पहुंचे लोग चार जून की सुबह अपने साधन से शव लेकर सिधौना पहुंचे। यहां गोरखा रेजीमेंट का साथ चलने के लिए इंतजार करने लगे। जब गोरखा रेजीमेंट के जवान निजी गाड़ी से पहुंचे, तो यहां मौजूद गांव से गये युवकों ने सेना की गाड़ी बुलाने की मांग को लेकर जमकर बवाल मचाया था। प्रदर्शनकारियों ने चक्काजाम करते हुए वाहनों का आवागमन अवरुद्ध करने के अलावा सरकारी और निजी वाहनों में तोड़फोड़ की घटना को अंजाम दिया था। सिधौना चौकी इंचार्ज की तहरीर पर खानपुर थाने में पूर्व एमएलसी विजय यादव समेत 30 नामजद व 1000 अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया गया था। इससे पूर्व पुलिस ने दो लोगों को जेल भेजने की कार्रवाई की है। घटना के दौरान अगुआई कर रहे वृंदावन के प्रधान प्रतिनिधि रमेश यादव का सोमवार को चालान कर जेल भेजे जाने की कार्रवाई से अन्य आरोपियों में दहशत का माहौल है।