मोहम्मद कय्यूम अंसारी ने एक महिला की जान बचाने में खुद की कुर्बानी दे दी।
दुर्गा दत्त मिश्रा
संत कबीर नगर जनपद के मेहदावल तहसील अंतर्गत पंडरिया पुल के पास एक महिला डूब रही थी। उसे बचाने के लिए कय्यूम अंसारी ने पानी में छ्लांग लगा दी।लेकिन कुदरत को शायद कुछ और मंजूर था। महिला की जान तो बचा ली गयी। लेकिन कय्यूम अंसारी गहरे पानी में डूब गये। पांच घंटे की काफी मशक्कत के बाद गोता खोरों की मदद से लाश मिली। इस दुखद घटना से हर कोई स्तब्ध है। कय्यूम अंसारी गल्फ में रहकर कार्य करते थे। अभी कुछ ही वक्त पहले गल्फ से आकर शादी रचाई थी। उनके सारे सपने अधूरे रह गये। पत्नी के हाथों की मेहंदी अभी तक छूटी भी नहीं थी कि कुदरत का इतना बड़ा कहर पूरे परिवार पर टूट पड़ा। तीन भाइयों में सबसे बड़े क्यूम अंसारी थे । ईश्वर घरवालों को सब्र दें और मरहूम की मगफिरत फरमाएं । एक बेटे और भाई तथा पति के जाने का ग़म तो कोई कम नहीं कर सकता है। क्यूम अंसारी ने काफी बहादुरी का काम किया है इसलिए प्रशासन और सरकार से अनुरोध है कि उनके परिवार की मदद करें।