हैल्मेट मैन का मिशन भारत को सड़क दुर्घटना मुक्त बनाना
पी एन पाण्डेय की रिपोर्ट
लखनऊ - हेलमेट मैन सड़क सुरक्षा का टीका देश के 75वे स्वतंत्रता दिवस पर शुरुआत करेंगे.अगले 3 सालों में भारत से डुप्लीकेट हेलमेट की होगी समाप्ति। हेलमेट मैन का मिशन है भारत को सड़क दुर्घटना मुक्त बनाना,। टीका के माध्यम से भारत के हर नागरिक से जुड़ना चाहते हैं । 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर 75 साल के लिए 5 लाख का बीमा दे रहे है। 18 वर्ष जिनकी उम्र हो चुकी है वह इस योजना का लाभ ले सकते हैं जिनकी उम्र 18 वर्ष से कम है वह छठी क्लास से लेकर ग्रेजुएशन तक की निशुल्क पुस्तकों का लाभ ले सकते हैं. हेलमेट मैन 7 साल से भारत के अलग-अलग राज्यों में 49 हजार लोगो को हेलमेट बाट चुके है। जिन्हे हेलमेट देते है उनसे बदले मे पुस्तक मांगते हैं और लोगों द्वारा दी गई पुस्तक से अब तक 7 लाख जरूरतमंद बच्चे बढ़ चुके हैं. एक तरफ भारत को सड़क दुर्घटना मुक्त बना रहे हैं और दूसरी तरफ भारत की सौ प्रतिशत साक्षरता बढ़ा रहे हैं. अब उनका मिशन है भारत से अगले तीन साल मे डुप्लीकेट हेलमेट खत्म करने का और सही हेलमेट लोगो तक पहुंचा कर सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूकता बढ़ाना।अब तक भारत के 22 राज्यों में अपना जागरूकता अभियान पहुंचा चुके हैं उन परिवारों से भी मिलते हैं जिन्होंने सड़क दुर्घटना में अपनों को खो चुके होते हैं. सड़क दुर्घटना से कोई भी परिवार इतना टूट जाता है जो आज भी लाखों परिवार ऐसे हैं जो किसी मददगार का इंतजार कर रहे हैं जिनमें अधिकतर अनाथ बच्चे होते हैं. लाखो बच्चे जो अपने माता पिता को सड़क हादसों में खो चुके हैं।उनकी शिक्षा वहीं रुक जाती है जो आज बाल मजदूरी करने पर विवश रहते हैं भारत में आज भी ऐसे लाखों बच्चे हैं जो स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस का मतलब नहीं समझते। पिछले साल करोना महामारी के बीच दुर्घटना वाले परिवार से लोगों ने हेलमेट मैन से आर्थिक सहायता मांगी मगर हेलमेट मैन उनके लिए कुछ नहीं कर सके।
लोगों की मदद नहीं करने का बड़ा अफसोस हुआ उन्हें तब एक तरकीब सोची क्यों ना हेलमेट के साथ लोगों को बीमा दी जाए भविष्य में दुर्घटना होने पर उन्हें आर्थिक सहायता मिल सके। इसके लिए कई इंसुरेंस कंपनियों को प्रपोजल दिया मगर कोई कंपनी हेलमेट के साथ बीमा देने को तैयार नहीं थी फिर भी हेलमेट मैन राघवेंद्र कुमार ने हार नहीं मानी आखरी में उन्हें कंपनियों को समझाने में सफल हुए और आज कई सारी इंश्योरेंस कंपनियां उनसे जुड़ना चाहती हैं। करोना की वजह से लोगों से पुस्तक नहीं ले सकते थे इसलिए जिनके करोना महामारी के बीच चालान हुआ था उन्हें आमंत्रित करके एक हेलमेट और साथ में बीमा दे रहे थे. लोगों को काफी अच्छा लगा हेलमेट मैन का प्रयास और सड़क सुरक्षा के प्रति लोग अधिक जागरूक होने लगे और हादसे होने पर लोग कॉल भी करने लगे लेकिन हेलमेट लगाने की वजह से उन्हें ज्यादा चोट नहीं आई। अब भारत के 75 वा स्वतंत्रता दिवस पर भारत के हर नागरिक तक अपना मिशन पहुंचाने की शुरुआत कर रहे हैं. भारत से सड़क दुर्घटना महामारी को रोका जा सके मौत के आंकड़ों में ब्रेक लगे और भारत के हर नागरिक इस मिशन का हिस्सा बने । हेलमेट मैन की योजनाओं का लाभ लेने के लिए उनकी वेबसाइट www.Helmetmanindia.com पर भी देख सकते है ।