प्रभु की रसोई" का शुभारंभ सदर विधायक संगीता बलवंत द्वारा किया गया
कृपाशंकर यादव
गाजीपुर। ऐसी मान्यता है कि गरीब और बेसहारा लोगों को खाना खिलाना मतलब भगवान को भोजन कराना होता है। इसी बात को आत्मसात कर जिलें के युवा उधमी और समाजसेवी सिद्धार्थ सेवार्थ के प्रयास से रविवार की शाम फ़तेउल्लाहपुर में स्थित हरीरहपुर हाला (खुरपी) गांव में गरीबो को निशुल्क भोजन हेतु "प्रभु की रसोई" का शुभारंभ सदर विधायक संगीता बलवंत द्वारा विधिवत रूप से फीता काटकर व दीप प्रज्जवलित कर किया गया। इस अवसर विधायक संगीता बलवंत ने कहा कि नर सेवा नारायण सेवा के भाव के साथ आज प्रभु की रसोई की शुरुआत कर सिद्धार्थ राय ने पुण्य का काम किया है। ऐसे विचार का मन मे आना और उन्हें सफलतापूर्वक धरातल पर लाना एक दृढ़ संकल्पित व्यक्ति के द्वारा ही किया जा सकता है जो सिद्धार्थ में है। इस अवसर पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते सिद्धार्थ सेवार्थ ने कहा कि पिछले मार्च महीने में ''भारत यात्रा" के माध्यम से लोगों से एक मुट्ठी अनाज लेने का कार्य शुरू किया गया था। जिसमें बिना किसी जाति, मजहब और भेदभाव के सबसे एक-एक मुट्ठी अनाज का दान लिया गया था। उसी अनाज के एकत्रीकरण से आज प्रभु की रसोई की शुरुआत की गयी है। जिसका उद्देश्य गरीब, असहाय (प्रभु) लोगो को भरपेट भोजन उपलब्ध कराना है। उन्होंने बताया कि सभी वर्ग, जाति और मजहब के लोगों में सामान सद्भाव हो इसी उद्देश्य के लिए भारत यात्रा की शुरुआत की गयी थी। उन्होंने बताया कि हफ्ते में सोमवार को छोड़कर 6 दिन इस रसोई का संचालन होगा। जिसमें प्रत्येक दिन अलग-अलग प्रकार के भोजन तैयार किये जायेंगे। आगे बताया कि कोविड के बढ़ते प्रकोप के कारण भारत यात्रा बीच मे रोक दी गयी थी जिसे जल्द ही बलिया से प्रारंभ की जाएगी। कहा कि कोई अपना जन्मदिन, सालगिरह या किसी की पुण्यतिथि आदि यहां आकर प्रभु के साथ मनाना चाहता है तो यहां राशन दे सकता है। जिसें उनके अनुसार भोजन तैयार कर उनके द्वारा ही परोसा जाएगा। इससे पूर्व कार्यक्रम को भाजपा मऊ के पूर्व जिलाध्यक्ष दुर्गविजय राय, राजेश राय, शाहफ़ैज़ पब्लिक स्कूल के प्रबंधक नदीम अधमी, सनबीम के प्रिंसिपल नवीन सिंह, भाजपा सोशल मीडिया विभाग के जिलासंयोजक कार्तिक गुप्ता, संतोष वर्मा, मनोज यादव, विजय यादव आदि ने संबोधित किया।