सभासदों में आक्रोश बैठे धरने पर
सुभाष सिंह की रिपोर्ट
गाजीपुर- आए दिन अपने किसी न किसी कारनामे के कारण जमानिया अक्सर चर्चाओं में रहता है। इसी कड़ी में बुधवार को मनोनीत सभासद अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत अपने समर्थकों के साथ अपनी दो मांगों को लेकर तहसील के सामने स्थित रामलीला मंच पर क्रमिक धरना पर बैठ गए इस अवसर पर भारतीय जनता पार्टी के मनोनीत सभासद कमल निगम ने कहा कि नगर पालिका परिषद द्वारा नगर में कराए गए कार्यों में अनियमितता की जांच के लिए जिलाधिकारी द्वारा गठित जांच समिति ने अपनी जांच में नगर पालिका अध्यक्ष सहित अन्य लोगों को भ्रष्टाचार का दोषी पाए जाने के बाद भी अब तक कोई वैधानिक कार्यवाही क्यों नहीं हुई ? ऐसी कौन सी मजबूरी है कि अब तक चेयरमैन का वित्तीय अधिकार सीज नहीं किया गया ? उन्होंने आगे कहा कि यदि वित्तीय अधिकार सीज नहीं होगा तो इसी प्रकार की अनियमितता व मनमानी चलती रहेगी और सरकारी धन का बंदरबांट होता रहेगा। मनोनीत सभासद जयप्रकाश गुप्ता ने कहा कि अपर जिलाधिकारी( वित्त राजस्व) की अध्यक्षता में 3 सदस्य समिति ने 26 मार्च 2021 को अपनी जांच आख्या सौंप है। जिसमें नगर पालिका अध्यक्ष सहित अन्य लोगों को वित्तीय अनियमितता एवं निर्माण कार्यों में गुणवत्ता की कमी पाई गई ।जिस पर कार्यवाही जल्द से जल्द की जाए। वही नगर के सतुवानी घाट पर अवैध रूप से रखी गई मूर्ति को हटाने की भी बात उन्होंने कही।उन्होंने चेतावनी दी जब तक मांगे पूरी नहीं होती तब तक यह क्रमिक धरना प्रदर्शन जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि धरना से पूर्व सभी अधिकारियों को धरना की जानकारी दी गई लेकिन आज तक कोई कार्यवाही नहीं हुई। इस दौरान धरना पर बैठे लोगों ने नगर पालिका अध्यक्ष के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की ।धरने में विशाल वर्मा,सुनील गुप्ता ,शाहजहां ,पुष्पा निषाद, राजू रतन सिंह ,राजू यादव, रमेश चौधरी,शहबाज अली ,सीताराम, अनिल पांडे ,गुलाबचंद सिंह आदि लोग शामिल रहे।